जागरण संवाददाता, लुधियाना। चुनाव आयोग दिसंबर माह में किसी भी वक्त आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू कर सकता है। चुनाव आचार संहिता लागू होते ही शहर में नए विकास कार्य शुरू नहीं हो पाएंगे। वहीं दूसरी तरफ दिसंबर के पहले सप्ताह तक तापमान कम होने के कारण हाट मिक्स प्लांट फिर से बंद हो जाएंगे। ऐसे में नगर निगम के पास विकास कार्य करवाने के लिए सिर्फ डेढ़ माह का वक्त रह गया है।

मंत्री, विधायक व कांग्रेस के हलका इंचार्ज इन दिनों में नगर निगम पर दबाव बना कर अपने इलाकों में विकास कार्य करवाने के टेंडर जारी करवा रहे हैं। यही नहीं टेंडर प्रक्रिया पूरी करके काम जल्दी शुरू करवाया जा सके इसके लिए निगम पर शार्ट टर्म टेंडर जारी करने का दबाव भी बनाया जा रहा है। नगर निगम ने भी दो दिन से विकास कार्यों के सभी टेंडर सात से 11 दिन के अंतराल वाले जारी करने शुरू कर दिए। निगम दो दिन में ही 50 से ज्यादा विकास कार्यों के शार्ट टर्म टेंडर जारी कर चुका है।

मंत्री, विधायक व हलका इंचार्ज मेयर पर दबाव बनाकर अपने हलकों के विकास कार्यों टेंडर जारी करवाकर वर्क आर्डर तो जारी करवा चुके हैं लेकिन ठेकेदार विकास कार्य शुरू करने को तैयार नहीं हैं। ठेकेदारों ने पहले ही साफ कर दिया कि वे इतनी बड़ी गिनती में एक साथ काम शुरू नहीं कर सकते। इसके बावजूद निगम अफसर ठेकेदारों से टेंडर भरवा रहे हैं। दरअसल नगर निगम में ठेकेदारों की गिनती सीमित होने के कारण वह ज्यादा काम एक साथ शुरू नहीं करवा पा रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ विधायकों ने पार्षदों के जरिए मेयर पर अपने वार्डों में जल्दी विकास कार्य शुरू करवाने का दबाव भी डालना शुरू कर दिया।

इस पर मेयर ने साफ कर दिया कि ठेकेदारों को वर्क आर्डर जारी कर रहे हैं पार्षद उनसे काम शुरू करवा सकते हैं। साथ ही मेयर ने ठेकेदारों को चेतावनी भी दे दी है कि बड़ी गिनती में काम एक साथ शुरू करने पर क्वालिटी व मापदंडों से किसी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा। मेयर बलकार सिंह संधू ने एडीशनल कमिश्नर आदित्य डेचलवाल को जिम्मेदारी सौंपी है कि शहर में होने वाले विकास कार्याें की चेकिंग साथ के साथ करें। ताकि ठेकेदारी मनमर्जी का काम न कर सकें।

Edited By: Vipin Kumar