जासं, लुधियाना। सीआइए-2 में तैनात होम गार्ड जवान के घर में घुसकर गैंगस्टर जिंदी के साथियों ने हमला कर दिया। हमलावरों ने होम गार्ड व उसके बेटे के साथ गालीगलौज करते हुए  बुरी तरह से मारपीट कर घायल कर दिया। पिता-पुत्र के शोर मचाने पर वे जान से मारने की धमकी देते फरार हो गए।

अब घटना के 22 दिन बाद थाना मेहरबान पुलिस ने गांव कनीजा निवासी हैप्पी, गोपी, अनमोल, राजवीर सिंह, डीसी, अवतार, गगन तथा उनके 15 अज्ञात साथियों पर केस दर्ज करके उनकी तलाश शुरू की है।

एएसआइ संदीप कुमार ने बताया कि उक्त केस गांव कनीजा निवासी होम गार्ड जवान गुरमीत सिंह की शिकायत पर दर्ज किया गया है। अपने बयान में उसने बताया कि गत 7 नवंबर की रात 9.20 बजे वह अपनी ड्यूटी पूरी करके अपनी स्विफ्ट कार में सवार होकर घर लौट रहा था। जब वह जसपाल कालोनी स्थित शिव मंदिर के पास पहुंचा, वहां दो अज्ञात लड़कों ने अपनी मोटरसाइकिल सड़क के बीच लगाकर उसकी कार को रोकने का प्रयास किया। मगर उसने एक साइड से अपनी कार निकाली और अपने घर पहुंच गया। उसके कुछ देर बाद हथियारों से लैस होकर आए आरोपितों ने उसके घर में घुसकर उस तथा उसके बेटे पर हमला कर दिया।

गुरमीत सिंह ने बताया कि गैंगस्टर जतिंदर सिंह उर्फ जिंदी के खिलाफ विभिन्न थानों में आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें अदालत उसे भगोड़ा करार दे चुकी है। गत 27 अक्टूबर के दिन वो पुलिस की टीम के साथ सलेम टाबरी में मौजूद था। उसी दौरान जगरांव पुल की और से आ रही कार में उसे जिंदी बैठा नजर आया।

उसने जब उसे कार रोकने का इशारा किया तो आरोपित व उसके साथी ने पुलिस की टीम पर कार चढ़ाने का प्रयास किया और भाग खड़े हुए। इस पर गुरमीत सिंह ने सरकारी पिस्तौल से उसकी कार पर दो फायर किए थे। गुरमीत का आरोप है कि उसी दिन से जिंदी के साथी उससे रंजिश रख रहे थे। उससे पहले भी आरोपितों ने एक दो बार पर उस पर हमला करने का प्रयास किया। मगर उसने अपना बचाव कर लिया था।

Edited By: Pankaj Dwivedi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट