जागरण संवाददाता, लुधियाना। आटोमेशन के दौर में पंजाब का उद्योग तेजी से विस्तार कर रहा है और इसमें सीएनसी मशीनों के इस्तेमाल में तेजी से बढ़ोतरी हुई है। ऐसे में इसके बेहतर इस्तेमाल और इसकी संभाल को लेकर जागरूकता भी बेहद जरूरी है। सीएनसी के जरिए कई अहम उत्पादों में प्रोडक्टीविटी को बढ़ाया जा सकता है। लेकिन इसके इस्तेमाल से लेकर इसकी संभाल को लेकर सजग होना बेहद जरूरी है।

यह भी पढ़ें-  CBSE ने विद्यार्थियों के लिए सैंपल पेपर्स किए जारी, नवंबर के दूसरे सप्ताह से शुरू होंगी टर्म वन की परीक्षाएं

इसके साथ ही इसे इस्तेमाल करने के लिए बेहतर ट्रेनिंग आवश्यक है। इसी को लेकर चेंबर आफ इंडस्ट्रीयल एवं कमर्शियल अंडरटेकिंग (सीआइसीयू) की ओर से सीएनसी मशीन के ओपटीमम यूटीलाइजेशन को लेकर एक दिवसीय वर्कशाप 30 सितंबर दिन वीरवार को सुबह 9.30 बजे से 5 बजे तक आयोजित की जाएगी। इसमें सीएनसी मशीन में साइकिल टाइम को 20 प्रतिशत कम करने, रिजेक्शन को कम करने, मशीन शाम में कास्टिंग कंट्रोल करने, टर्निंग एवं मशीनिंग सेंटर एप्लीकेशन, टूलिंग सिलेक्शन, मशीन मनटेनेंस, केस स्टड़ीज पर विस्तार से चर्चा की जाएगी।

यह भी पढ़ें-  दोस्त से बिल मांगने पर तैश में आए डीसएसपी, ढाबा मालिक को पीटा; बेटे ने वीडियो बनाई तो बाजू तोड़ी

 

यह वर्कशाप सीआइसीयू फोकल प्वाइंट में सुबह 9.30 से शाम पांच बजे तक आयोजित की जाएगी। चेंबर के प्रधान उपकार सिंह आहुजा ने कहा कि आटोमेशन के दौर में अब सीएनसी हर फैक्टरी का हिस्सा बनी चुकी है। इसको चलाने के लिए भी बेहतर ट्रेनिंग होना बेहद जरूरी है। इसके सही इस्तेमाल से न केवल बेहतर प्रोडक्टीविटी दी जा सकती है, बल्कि इससे कास्ट कटिंग पर भी प्रमुखता से काम किया जा सकता है। इसके साथ ही सही इस्तेमाल से मशीन की लाइफ को बढ़ाया जा सकता है। ऐसे में यह वर्कशाप एमएसएमई सेक्टर के लिए काफी लाभदायक होगी।

यह भी पढ़ें-  Ludhiana Garments Industry : लुधियाना गारमेंट्स इंडस्ट्री का अब डिजिटल पर फोकस, आनलाइन सेल में हो रही बढ़ोतरी

 

Edited By: Vinay Kumar