लुधियाना [राधिका कपूर]। सेंट्रल बोर्ड आफ सेकेंडरी एजूकेशन (सीबीएसई) ने विद्यार्थियों के लिए सैंपल पेपर्स जारी कर दिए हैं। इस बार सैंपल पेपर्स फाइनल परीक्षाओं के लिए नहीं बल्कि परीक्षाओं से पहले होने वाले टर्म वन परीक्षाओं के लिए हैं। वैसे तो सीबीएसई की ओर से सैंपल पेपर्स अपलोड करना कोई नई बात नहीं है लेकिन कोरोना काल के बाद शुरू होने वाले टर्म वन परीक्षाओं को ध्यान में रख यह अपलोड किए गए हैं। बता दें कि कक्षा नौवीं से बारहवीं तक के टर्म वन परीक्षाएं नवंबर के दूसरे सप्ताह से शुरू होने जा रही है। ऐसे में केवल बोर्ड कक्षाओं दसवीं और बारहवीं के विद्यार्थियों के लिए सैंपल पेपर्स उतारे गए हैं ताकि विद्यार्थी बचे समय से ही प्रैक्टिस पर ज्यादा से ज्यादा फोकस कर सकें।

डेढ़ घंटे में एमसीक्यूज बेसड प्रश्न करने होंगे हल

सीबीएसई की ओर से टर्म वन में विद्यार्थियों को 90 मिनट का समय दिया जाएगा और डेढ़ घंटे में उन्हें 40 से 50 प्रश्नों को हल करना होगा। वहीं प्रैक्टिस के सैंपल पेपर्स में ओएमआर शीट्स भी मुहैया कराई गई है ताकि विद्यार्थियों को पेटर्न और इसके भरने के तरीके के बारे पता चल सके। सैंपल पेपर्स केंद्रीय विद्यालय और सीबीएसई विशेषज्ञों की मदद से तैयार किए गए हैं। सैंपल पेपर्स साल्वड और अनसाल्वड दोनों तरह से ही है। बोर्ड परीक्षाओं के विद्यार्थियों को जहां टाइम मैनेजमेंट का पता चल सकेगा, वहीं अपने कमजोर प्वाइंटस को सुधारने का भी मौका मिल सकेगा।

प्रिंसिपल बोले, सीबीएसई का प्रयास सराहनीय

बीसीएम स्कूल बसंत एवेन्यू दुगरी की प्रिंसिपल डा. वंदना शाही की माने तो प्रैक्टिस पेपर्स वैसे ही विद्यार्थियों के लिए मददगार होते हैं। उन्हें पता चलता है कि परीक्षाओं के लिए प्रैक्टिस कैसे करनी है। अब टर्म वन परीक्षाओं का सवाल है जिसके पेटर्न में बदलाव हुआ है तो बेहद जरूरी है कि परीक्षाओं से पहले विद्यार्थी उनकी भी प्रैक्टिस कर सके। परीक्षा का पेटर्न कैसा आएगा व विद्यार्थियों को कैसे समय सारिणी बनानी है और कैसे प्रश्नों का हल करना है, सैंपल पेपर्स से बेस्ट आप्शन कोई ओर हो नहीं सकती।

Edited By: Vinay Kumar