संवाद सहयोगी, कपूरथला : ब्यास के कटाव के चलते जमीन दरिया में चले जाने तथा कर्ज से परेशान होकर गांव बाऊपुर मंड निवासी किसान लखविंदर सिंह सिंह बुधवार को जहर निगल कर आत्महत्या कर ली। लखविंदर सिंह ने बैंक से 16 लाख रुपये कर्ज लिया था तथा सात कनाल जमीन के लिए रिश्तेदारों के साथ उसका विवाद चल रहा था। सुसाइड नोट में मृतक ने अपने ताये के लड़के व भतीजे को मौत का जिम्मेवार ठहराया है। मृतक की पत्नी के बयान के आधार पर थाना कबीरपुर की पुलिस ने दर्शन सिंह पुत्र किरपाल सिंह तथा उनके बेटे गुरप्रीत सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

मृतक की पत्नी परमजीत कौर ने पुलिस को दी गई शिकायत में बताया कि लखविंदर सिंह ने बैंक से 16 लाख का कर्ज लिया था जिससे उन्होंने अपनी चारों लड़कियों की शादी की। कर्जा नहीं चुकाने के कारण वह परेशान रहने लगे। सात कनाल जमीन को लेकर ताया का लड़का दर्शन सिंह व उसका बेटा गुरप्रीत सिंह लखविदर सिंह को परेशान करने लगा। कई बार पंचायत में भी लखविंदर को बुलाकर सात कनाल जगह छोड़ने के लिए कहा गया था। परमजीत सिंह ने बताया कि उसकी छह एकड़ जमीन बाऊपुर मंड स्थित दरिया में पड़ती है तथा कई बार पकी हुई दरिया के पानी की वजह से खराब हो चुकी है।

22 मार्च की रात को लखविंदर सिंह खाना खाने के बाद अपने कमरे में सोने के लिए चले गए। कुछ समय पश्चात उन्हें घबराहट होने लगी। पूछने पर बताया कि उन्होंने अपने ताया के लड़के दर्शन सिंह व उसके लड़के गुरप्रीत सिंह से परेशान होकर जहरीला पदार्थ निगल लिया है। इसके बाद थाना कबीरपुर की पुलिस को सूचित किया गया। मौके पर पहुंचे एएसआइ मनजिदर सिंह ने शव को सुल्तानपुर लोधी अस्पताल के शवगृह में रखवा दिया। पुलिस ने परमजीत कौर की शिकायत पर दर्शन सिंह व उसके बेटे गुरप्रीत सिंह के खिलाफ केस दर्ज किया है। शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों के हवाले कर दिया गया है। थाना कबीरपुर पुलिस के एएसआइ मनजिदर सिंह ने बताया कि आरोपित बाप-बेटे को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Edited By: Jagran