संवाद सहयोगी, फगवाड़ा : शहर के वार्ड नंबर 24 में पड़ते पीपारंगी क्षेत्र के लोग पिछले करीब 50 सालों से लगे मानव रहित रेलवे क्रासिंग फाटक के पक्के तौर पर बंद हो जाने के चलते भारी समस्याओं से जूझ रहे हैं। आलम यह है कि फाटक के बंद हो जाने के चलते जहां पीपारंगी इलाका शहर से कट गया है, वही क्षेत्र की मुख्य मार्केट भी रेलवे लाइन के दूसरी तरफ होने के चलते लोगों को परेशानी हो रही है। इसके इलावा क्षेत्र के बच्चों को स्कूल जाने में भी दिक्कते आ रही है, शमशानघाट जाने में भी बेहद मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

वार्ड नंबर 24 के पार्षद अमरजीत सिंह इस मामले को सुलझाने को लेकर काफी गंभीरता से प्रयास कर रहे हैं किसी भी तरह से रेलवे का ये फाटक लोगों के आने-जाने के लिए फिर से खुल जाए, इसके लिए पार्षद अमरजीत सिंह पूरी तरह से डटे हुए हैं। ऐसे में पार्षद ने मोहल्ला वासियों को साथ लेकर केंद्रीय राज्य मंत्री विजय सांपला से मिलकर उन्हे फाटक बंद होने के चलते क्षेत्र वासियों को पेश आ रही समस्याओं से अवगत करवाया है, वही केंद्रीय मंत्री को मांग पत्र देकर इसे जल्द से जल्द खुलवाने की मांग की है।

दैनिक जागरण के साथ बातचीत में पार्षद अमरजीत सिंह ने कहा कि उनके वार्ड में पड़ते पीपारंगी क्षेत्र में पिछले करीब 50 सालों से मानव रहित रेलवे क्रासिंग चल रही थी लेकिन पिछले कुछ महीने पहले ये रेलवे फाटक पक्के तौर पर बंद कर दिया गया। इसके चलते पीपारंगी क्षेत्र शहर के मुख्य हिस्से से कट चुका है, वही मुख्य मार्किट भी दूसरी साइड पर है, इसके इलावा बच्चों को जहां स्कूल जाने में परेशानी हो रही है, वही क्षेत्र वासियों को शमशानघाट जाने में भी समस्या आ रही है। पार्षद ने बताया कि स्कूल जाने के लिए बच्चों को इस रेलवे क्रासिंग से बड़ी मुश्किल के साथ गैर कानूनी ढंग से निकलना पड़ रहा है। इससे हादसा होने का भी अंदेशा बना हुआ है। पार्षद ने कहा कि इस समस्या के चलते वार्ड नंबर 23 के अतिरिक्त 24, 27,28,29 के लोगों को भी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि इस रेलवे क्रासिंग पर रेलवे फाटक बनाने के लिए नगर निगम की ओर से 9 अगस्त 2017 को प्रस्ताव नंबर 11 भी डाला जा चुका है। पार्षद अमरजीत सिंह ने केंद्रीय मंत्री विजय सांपला से इस समस्या का जल्द से जल्द समाधान करवाकर रेलवे फाटक लगवाने की मांग की है। इस अवसर पर नगर निगम के डिप्टी मेयर रणजीत सिंह खुराना व पार्षद ओम प्रकाश बिंट्टू भी उपस्थित थे।

Posted By: Jagran