महेश कुमार, कपूरथला : कपूरथला-नकोदर रोड पर गुरुद्वारा श्री टाहली साहिब के पास कुछ निहंगों द्वारा किरपाणों से कपूरथला पीआरटीसी डिपो की एक बस पर हमला करने की वीडियो वायरल हुई है। यह बस नकोदर से कपूरथला आ रही थी। रास्ते में कुछ निहंग अपने घोड़ों के साथ जा रहे थे कि बस की साइड एक घोड़े से लग गई इसके चलते गुस्से में आए निहंग सिंहों ने बस को रास्ते में घेरकर हमला बोल दिया। वीडियो में निहंग सिंह किरपाणों से बस पर हमला करते हुए दिख रहे है। वीडियो वायरल होने के बाद थाना कालासंघिया में चार अज्ञात निहंगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। पुलिस को दी गई लिखित शिकायत में उक्त बस के ड्राइवर निर्मल सिह (सीके-382) ने बताया कि वह 14 सितंबर की सुबह कपूरथला डिपो की बस नंबर पीबी09-एक्स-3613 को नकोदर से कपूरथला लेकर आ रहा था। सुबह करीब आठ बजे जब बस सुन्नड़ा पुल नजदीक टाहली गुरुद्वारा के पास पहुंची तो बस की साइड रास्ते में घोड़ों सहित गुजर रहे निहंग सिहों के एक घोड़े को लग गई। इससे गुस्साए निहंगों ने किरपाणों व बरछों से बस पर हमला कर दिया। निहंग सिंह कह रहे थे कि तुसीं साडे घोड़ियां नूं साइड मारी आ, नहीं छडांगे तुहानूं।

पीड़ित ड्राइवर ने बताया कि उसने निहंगों से निवेदन भी किया कि वह घोड़े का इलाज करवा देते हैं लेकिन निहंगों ने उसकी एक न सुनी। उन्होंने बस के अगले शीशे किरपाणों व बरछों से वारकर तोड़ डाले। उस पर व कंडक्टर पर जानलेवा हमला भी किया। वह बमुश्किल बस को वहां से भगाकर अपनी व सवारियों की जान बचाने में सफल रहा।

बस की साइडों में लगे लोहे के पाइपों के कारण सवारियों का जानी नुकसान होने से बचा

बस सवार कुछ सवारियों ने बताया कि रास्ते में कुछ निहंग सिंह घोड़ों समेत जा रहे थे। ड्राइवर ने साइड देने के लिए हार्न बजाया तो निहंगों के हाथों से एक घोड़ा छुटकर बस से टकराकर घायल हो गया। ड्राइवर ने बस रोककर निहंगों को निवेदन किया कि वह घायल घोड़े का इलाज करवा देगा लेकिन निहंग गाली-गलौच पर उतर आए। गुस्से मे आकर बस में तोड़पोड़ शुरू कर दी। उन्होंने बताया कि बस में सुबह का समय होने के कारण ज्यादातर पास होल्डर स्टूडेंट्स सवार थे। बस की साइडों में लगे लोहे के पाइपों के कारण सवारियों का जानी नुकसान होने बचाव हो गया।

कपूरथला डिपो के इंचार्ज विजय कुमार ने बताया कि उन्होंने सारा मामला डिपो के उच्चाधिकारियों के ध्यान में ला दिया है। मामले की शिकायत पुलिस को कर दी गई है। उन्होंने कहा कि आए दिन पीआरटीसी की बसों के अलावा ड्राइवरों व कंडक्टरो पर हमले हो रहे हैं जोकि निदनीय है। सरकार को ऐसे मामलों को गंभीरता से लेना चाहिए। उक्त घटना में अगर बस का दरवाजा खुल जाता तो किसी सवारी का जानी नुकसान भी हो सकता था। जब उनसे पूछा गया कि उन्होने वारदात के इतने दिन बाद शिकायत क्यों दी है तो उन्होंने कहा कि 15 सितंबर को बस के कंडक्टर की एक हादसे में मौत हो गई थी इसलिए देरी हुई है।

केस दर्ज, जल्द गिरफ्तार होंगे आरोपित : एएसआइ बलबीर सिंह

थाना कालासंघिया के एएसआइ बलबीर सिंह ने बताया कि शिकायत और वायरल हुई वीडियो के आधार पर अज्ञात चार निहंगों के खिलाफ अलग-अलग धाराओं के तहत केस दर्द कर लिया गया है। पता लगाया जा रहा है कि यह निहंग सिंह किस जत्थे से संबंध रखते हैं और कहां के हैं। आरोपितों को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!