जागरण संवाददाता, कपूरथला : कपूरथला-नकोदर रोड पर गुरुद्वारा श्री टाहली साहिब के पास किरपाणों व बरछों से कपूरथला पीआरटीसी डिपो की बस पर हमला करने के आरोपित निहंग अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। शनिवार को उक्त घटना की वीडियो वायरल होने के बाद चौकी कालसंघिया में अज्ञात निहंग सिंहों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया था। यह बस नकोदर से कपूरथला आ रही थी। रास्ते में कुछ निहंग अपने घोड़ो के साथ जा रहे थे कि बस की साइड एक घोड़े से लग गई इसके चलते गुस्से में आए निहंग सिंहों ने बस को रास्ते में घेरकर हमला बोल दिया। वीडियो में निहंग सिंह किरपानों से बस पर हमला करते हुए दिखाई दे रहे थे।

इस संबंध में कालासंघिया चौकी प्रभारी एएसआइ बलबीर सिंह का कहना है कि अभी तक कि जांच में यह बात सामने आई है कि निहंगों का एक जत्था सुल्तानपुर लोधी और श्री गोइंदवाल साहिब की ओर से आया था। 13 सितंबर की रात इस जत्थे ने गुरुद्वारा श्री टाहली साहिब में ठहराव किया था और अगले दिन अगले पड़ाव की ओर निकले थे। उन्होंने बताया कि ऐसा भी मालूम हुआ है कि उक्त जत्था लुधियाना के आसपास से संबंध रखता है लेकिन इसकी अभी कोई पुख्ता जानकारी हाथ नहीं लगी है। गुरुद्वारा श्री टाहली साहिब में भी ठहरने वाले जत्थों का रिकार्ड नहीं रखा गया जिस कारण जांच में परेशानी पेश आ रही है। एक-दो दिनों में मामले का खुलासा हो जाए।

यह था मामला

पुलिस को दी गई लिखित शिकायत में उक्त बस के ड्राइवर निर्मल सिह (सीके-382) ने बताया कि वह 14 सितंबर की सुबह कपूरथला डिपो की बस नबर पीबी09-एक्स-3613 को नकोदर से कपूरथला लेकर आ रहा था। सुबह करीब आठ बजे जब बस सुन्नड़ा पुल नजदीक टाहली गुरुद्वारा के पास पहुची तो बस की साइड रास्ते में घोड़ों सहित गुजर रहे निहंग सिहों के एक घोड़े को लग गई। इससे गुस्साए निहंगों ने किरपाणों व बरछों से बस पर हमला कर दिया। निहंग सिंह कह रहे थे कि तुस्सी साडे घोड़ेयां नूं साइड मारकरे आए हो। हमलावर निहंग सिंहों ने एक न सुनी। पीड़ित ड्राइवर ने बताया कि उसने निहंगों से निवेदन भी किया था कि वह घोड़े का इलाज करवा देते है लेकिन निहगों ने एक न सुनी। बस में तोड़फोड़ करने के अलावा उस पर व कडक्टर पर जानलेवा हमला किया। वह बमुश्किल बस को वहां से बस भगाकर अपनी व सवारियों की जान बचाने मे सफल रहा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!