डेरा बाबा नानक (गुरदासपुर), जेएनएन। ओडिशा की एक महिला को एक पाकिस्‍तानी युवक से प्‍यार हाे गया। एक पांच साल की बेटी की मां उस युवक के प्‍यार में ऐसी अंधी हो गई कि पाकिस्‍तान जाने के लिए वह पंजाब के डेरा बाबा नानक साहिब में भारत-पाक ब\र्डर पर पहुंच गई। वह करतारपुर कॉरिडोर होकर पाकिस्‍तान जाने की फिराक में थी, लेकिन कॉरिडोर बंद होने की वजह से पकड़ी गई। महिला के साथ उसकी बेटी भी थी।

बीएसएफ ने काबू कर किया पुलिस के हवाले, पुलिस ने परिवार को सूचना देकर बुलाया 

महिला के पास 25 तोले आभूषण भी थे। बाद में पुलिस ने ओडिशा में उसके स्‍वजनों को घटना की सूचना दी। वे विमान से अमृतसर व फिर यहां पहुंचे। पूछताछ के बाद महिला और उसकी बेटी को परिवार के हवाले कर दिया गया। काबिले जिक्र है कि करतारपुर कॉरिडोर खुलने के बाद इस तरह किसी महिला द्वारा अपने प्रेमी को मिलने के लिए पाकिस्तान जाने का प्रयास करने का यह दूसरा मामला है।

पूरे मामले की जानकारी डीएसपी कंवलप्रीत सिंह ने दी। उन्‍होंने बताया कि बुधवार को पुलिस थाना डेरा बाबा नानक को बीएसएफ की ओर से ओडिशा के संबलपुर जिले के एक गांव की 25 साल की महिला और उसकी पांच साल की एक बेटी सुपुर्द की गई। यह महिला करतापुर कॉरिडोर के रास्‍ते पाकिस्‍तान जाना चाहती थी। कारिडोर फिलहाल बंद होने के कारण बीएसएफ के जवानों ने उसे राेक दिया। बाद में बीएसएफ ने दोनों को पुलिस के हवाले कर दिया।

डीएसपी ने बताया कि महिला के पास से 25 तोले सोने के गहने, 60 ग्राम चांदी व तीन एटीएम कार्ड मिले।इस पर शक हुआ तो महिला से पूछताछ की गई तो उसने सारी सच्‍चाई बता दी। महिला ने बताया कि करीब दो साल पहले उसने अपने मोबाइल पर आयार ऐप (एजेडएआर) डाउनलोड किया था। इसके माध्यम से उसकी पाकिस्तान में एक व्यक्ति से दोस्‍ती हो गई और वह वीडियो चैटिंग करने लगी।

महिला ने बताया कि दो माह पहले वह अपने ससुराल से मायके भुवनेश्वर आ गई। उसने मायके में रहते हुए उक्त एप द्वारा पाकिस्तान के इस्लामाबाद में रहने वाले लडक़े मोहम्मद वक्कार से बातचीत करनी शुरू कर दी। इसके बाद दोनों ने अपने वॉट्सऐप नंबर एक-दूसरे को देकर उस पर बातचीत करनी शुरू कर दी। इसी दौरान वह पाकिस्‍तानी युवक के प्‍यार में पागल हो गई और उससे मिलने की ठान ली।

महिला ने पुलिस पूछताछ में बताया कि इस दौरान मोहम्मद वक्कार ने उसे करतारपुर कॉरिडोर के रास्ते पाकिस्तान आने के लिए कहा। इसके बाद वह मायके से विमान से दिल्ली और फिर दिल्ली से अमृतसर आ गई। अमृतसर से वह करतारपुर कॉरिडोर पर अपनी पांच साल की बच्ची के साथ पहुंच गई। यहां पर करतारपुर कॉरिडोर बंद होने के कारण बीएसएफ जवानों की ओर से दोनों को रोक लिया।

डीएसपी ने बताया कि महिला से पूछताछ के बाद उसके परिवारिक सदस्यों से संपर्क किया गया। इसके बाद उसके परिवार के सदस्‍य आनन-फानन में फ्लाइट के माध्यम से डेरा बाबा नानक पहुंच गए। महिला व बच्ची को पारिवारिक सदस्यों को सौंप दिया गया।

बता दें कि करतारपुर कॉरिडोर खुलने के बाद इंटरनेट मीडिया पर पाकिस्तानी लडक़े से प्यार होने के बाद दूसरी बार किसी महिला ने पाकिस्तान जाने का प्रयास किया है। इससे पहले कॉरिडोर खुला होने के चलते एक महिला गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब में पहुंच गई थी। बाद में उसके बारे में खुलासा होने के बाद बीएसएफ द्वारा उसे पाकिस्‍तानी अधिकारियों को सूचना देकर वापस बुलाकर पारिवारिक सदस्यों को सौंप दिया गया था।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021