अमृतसर, [पंजाबी जागरण]। एक भारतीय महिला को इंटरनेट मीडिया पर चैटिंग के दौरान पाकिस्‍ताने के एक व्‍यक्ति से प्‍यार हो गया। यह शादीशुदा महिला मूक-बधिर है और उसका पति भी मूक बधिर है। कमाल की बात है कि महिला का पाकिस्‍तानी प्रेमी भी मू‍क-बधिर है। इसी म‍हीने वह पति के साथ भारतीय श्रद्धालुओंं के जत्‍थे के साथ पाकिस्‍तान गई। वहां उसने पति को अपने 'मूक प्‍यार' के बारे में बताया। इसके बाद पति ने लाहौर में  पत्‍नी की उसके प्रेमी से निकाह करा दिया।     

श्री गुरु नानक देव जी का प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में 17 नवंबर को पाकिस्तान गए श्रद्धालुओं के जत्थे में शामिल भारतीय मूल की इस मूक-बधिर महिला ने लाहौर की एक मस्जिद में अपने मूक पाकिस्तानी प्रेमी से निकाह कर लिया। कोलकाता की रहने वाली 40 वर्षीय महिला पहले से शादीशुदा है और अपने मूक पति के साथ  पाकिस्तान गई थी। उसके पासपोर्ट पर दर्ज जानकारी के अनुसार उसका जन्म लखनऊ (उत्तर प्रदेश) में हुआ था। महिला पिछले दो साल से फेसबुक के जरिये अपने प्रेमी के संपर्क में थी। चैटिंग के दौरान इन दोनों के बीच संवाद प्यार तक पहुंच गया। इसके बाद दोनों ने एक-दूसरे से शादी करने का मन बना लिया।

पाकिस्तान गए श्रद्धालुओं के साथ पाकिस्तान गई थी कोलकाता की मूक बधिर महिला

महिला का पति भी उसके साथ पाकिस्तान गया था और उसने पत्‍नी को पाकिस्तानी प्रेमी से निकाह करने के लिए सहमति दे दी। इसके बाद महिला ने लाहौर की मस्जिद में मुल्तान के रहने वाले मूक मोहम्मद कामरान के साथ निकाह किया। रिपोर्ट्स के मुताबिक महिला ने अपना नाम बदलकर परवीन सुल्ताना रख लिया है। सूत्रों के अनुसार जिस दिन भारतीय जत्था पाकिस्तान गया था उस दिन भी मोहम्मद कामरान और उसके परिवार के सदस्य महिला व उसके पति से मिलने वाघा सीमा पर पहुंचा थे। उन्होंने दोनों का स्वागत भी किया था।

नहीं मिली पाकिस्तान में रहने की इजाजत, लौटना पड़ा

सूत्रों के अनुसार महिला ने पाकिस्तान में इस्लाम भी कुबूल किया लेकिन उसे वहां रहने की इजाजत नहीं मिली। निकाह के समय स्थानीय पुलिस को भी बुलाया गया था। निकाह करने के बाद उसने पति के साथ रहने की इच्छा जताई लेकिन पुलिस अधिकारियों ने उसे समझाया कि वह यहां नहीं रह सकती। इसके लिए उसे दोबारा पाकिस्तान का वीजा लेकर आना पड़ेगा। फिर वह यहां अपने पति के साथ रह सकती है।

इस कारण महिला अपने भारतीय पति के साथ अटारी सीमा के रास्ते भारत लौट आई है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी पंजाब के जिला शहीद भगत सिंह नगर (नवांशहर) के कस्बा बलाचौर की रहने वाली किरण बाला भी जत्थे के साथ पाकिस्तान गई थी और वहां एक मुस्लिम युवक के साथ निकाह करवाया था।

Edited By: Sunil Kumar Jha