कमल किशोर, जालंधर। टोक्यो ओलंपिक के बाद अब पैरा ओलंपिक में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों से देश को काफी उम्मीदें है। भारतीय हाकी टीम में शामिल जालंधर के चार खिलाड़ी मनप्रीत सिंह, मनदीप सिंह, वरुण शर्मा व हार्दिक सिंह शामिल थे। खिलाड़ियों ने बढ़िया प्रदर्शन कर कांस्य पदक अपने नाम किया। वहीं पैरा-ओलंपिक में शहरवासियों को जालंधर की बैडमिंटन खिलाड़ी पलक कोहली से काफी उम्मीदें है। 19 वर्षीय पलक कोहली की तारीफ देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कर चुके है। प्रधानमंत्री ने कहा था कि उनकी आयु छोटी है, पर संकपल्प बड़े है। अप्रैल में पलक कोहली ने तीसरे दुबई पैरा बैडमिंटन इंटरनेशनल 2021 में एक रजत व दो कांस्य पदक अपने नाम किए थे। पलक कोहली राष्ट्रीय, अंतर-राष्ट्रीय स्तर पर कई खिताब अपने नाम कर चुकी है।

लाकडाउन में पलक कोहली ने लखनऊ में ट्रेनिंग की थी

पिछले वर्ष 2020 को कोविड-19 वायरस की गंभीरता को देखते हुए अधिकतर खिलाड़ियों ने घर या होस्टल में ट्रेनिंग की थी। पलक कोहली लखनऊ में अपने अस्थायी कोर्ट पर ट्रेनिंग कर रही थी। पलक कोहली ट्रेनिंग द्रोेणाचार्य अवार्डी गौरव खन्ना से प्राप्त कर रही थी।

पलक कोहली की उपलब्धियां

स्विटजरलैंड में हुई पैरा बैडमिंटन वलर्ड चैंपियनशिप में सेमिफाइनल से बाहर हो गई थी। थाईलैंड में पैरा बैडमिंटन चैंपियनशिप में सेमीफाइनल का सफर तय किया। चीन में हुई पैरा बैडमिंटन चैंपियनशिप में पांचवें स्थान पर रही, युगांडा में हुई पैरा बैडमिंटन चैंपियनशिप में डबल प्रतिस्पर्धा में स्वर्ण पदक व एकल प्रतिस्पर्धा में रजत पदक जीता। अंडर-19 बैडमिंटन टूर्नामेंट की रनरअप ट्राफी जीती। आइसीआई जोनल बैडमिंटन टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक, तीसरी पैरा बैडमिंटन नैशनल चैंपियनशिप में तीन स्वर्ण व एक कांस्य पदक जीता।

मेहनत से कर दिखाया-पलक कोहली

पलक कोहली ने बताया कि बचपन से बाएं हाथ से दिव्यांग थी। कभी जीवन में हार नहीं मानी। सपना है कि पैरा ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतना। एक शिक्षक से खेल से दूर रहने की सलाह दी थी। कोच गौरव खन्ना के साथ ट्रेनिंग कर रही हूं। पैरा ओलंपिक में बेहतर प्रदर्शन कर देश के पदक जीतने की कोशिश रहेगी। 24 अगस्त को पैरा ओलंपिक गेम्स शुरु हो रही है।

यह भी पढ़ेंः जालंधर में बस सेवा ठप होने से बढ़ी लोगों की मुश्किलें, सरकारी व प्राईवेट दफ्तरों में पसरा सन्नाटा

Edited By: Vipin Kumar