Move to Jagran APP

जालंधर की दिलकुशा मार्केट में बिजली की नंगी तारों व अवैध कब्जों की भरमार, प्रशासन बेपरवाह

जालंधर की दिलकुशा मार्केट में अवैध कब्जों की भरमार है और बिजली की नंगी तारें हादसों को न्योता देती है। मार्केट में एक तरफ रेहड़ियों व दूसरी तरफ मार्केट के ही दुकानदारों ने सामान रख कर रास्ते की चौड़ाई कम कर दी है।

By Rohit KumarEdited By: Sat, 27 Feb 2021 12:52 PM (IST)
जालंधर की दिलकुशा मार्केट में बिजली की नंगी तारों व अवैध कब्जों की भरमार, प्रशासन बेपरवाह
जालंधर की दिलकुशा मार्केट में अवैध कब्जों की भरमार है

जालंधर, जेएनएन। होलसेल दवाइयों की दिलकुशा मार्केट में दवाइयों को खरीदने के लिए रोजाना सैंकड़ो लोग पहुंचते है। करोड़ों रुपये की सालाना बिक्री करने वाले होलसेल दवा विक्रेताओं की मार्केट से लाखों रुपये कै टैक्स सरकार को जाता है लेकिन मार्केट की समस्याओं का समाधान करने के लिए प्रशासन आंखें मूंद लेता है। मार्केट के दुकानदारों के अनुसार मार्केट में प्रवेश करने वाले रास्ते अवैध कब्जों का शिकार हो चुके है। एक तरफ रेहड़ियों व दूसरी तरफ मार्केट के ही दुकानदारों ने निजी सामान रख कर मार्केट में प्रवेश करने वाले रास्ते की चौड़ाई कम कर दी है। मार्केट से प्रवेश करते ही लोगों को ट्रैफिक जाम की समस्या से जूझना पड़ता है। वहीं मार्केट में जगह जगह नंगी बिजली की तारें आने वाले लोगों के लिए खतरे की घंटी बनी हुई है।