जालंधर, जेएनएन। कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आए हाई अलर्ट राज्यों में शामिल महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, गुजरात व पंजाब शामिल हैं। इन राज्यों में स्थिति का जायजा लेने के लिए केंद्र सरकार ने सेंट्रल मल्टी डिस्पिलिनेरी टीम का गठन किया है। टीम अगले तीन दिन तक जालंधर सहित पंजाब के अन्य हॉटस्पॉट जिलों में रहेगी और पता लगाएगी कि प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले इतनी तेजी से क्यों बढ़ रहे हैं। टीम के दौरे को लेकर स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट कर दिया है। टीम में दिल्ली के विशेषज्ञ डॉक्टर शामिल हैं।  टीम तीन दिन तक पंजाब के विभिन्न जिलों में जाएगी।

पंजाब में जालंधर और लुधियाना सबसे ज्यादा प्रभावित

बता दें कि पंजाब में जालंधर और लुधियाना सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में शामिल हैं। यहां पिछले दो सप्ताह से लगातार 300 से ज्यादा नए कोरोना वायरस संक्रमण के मामले रिपोर्ट किए जा रहे हैं। मरीजों की मौतों का सिलसिला भी नहीं रुक रहा है। 

पंजाब के इन जिलों में टीम करेगी सर्वे

पंजाब के जालंधर, अमृतसर, लुधियाना, मोहाली, पटियाला, रूपनगर, होशियारपुर और कपूरथला जिलों में टीम सर्वे करेगी। जांच के दौरान टीम सिविल अस्पतालों में कोरोना मरीजों को उपलब्ध सुविधाओं और इलाज के बारे में भी जानकारी जुटाएगी।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के मुताबिक राज्य के सभी जिलों के सिविल सर्जनों को टीम के दौरे को लेकर अलर्ट रहने के आदेश जारी किए गए हैं। आईडीएसपी पंजाब के नोडल अफसर डा. राजेश भास्कर का कहना है कि केंद्र सरकार की टीम वीरवार को पंंजाब पहुंच रही है। इसके बाद टीमें उन जिलों का चयन करेगी जहां कोरोना के मरीजों व इससे होने वाली मौतों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। वहां का दौरा कर जमीनी हकीकत का पता लगाने के लिए हर पहलू पर गहन जांच पड़ताल करेगी।

यह भी पढ़ें - पंजाबः गुरुद्वारा के सेवादार ने किशोरी से दुष्कर्म कर बनाई वीडियो, वायरल करने की धमकी दे घरवालों से ऐंठे 5 लाख

यह भी पढ़ें - प्यार में पागल ओडिशा की महिला जा रही थी पाकिस्‍तान, करतारपुर कॉरिडोर बंद रहने से पकडी गई

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021