धर्मबीर सिंह मल्हार, तरनतारन। सीमावर्ती गांव दासूवाल में लोग उस वक्त दंग रह गए जब एक घर की दीवार गिराने पर उसमें निकली कैनी में एके-47 सहित अन्य हथियारों के 336 कारतूस निकले। आननफानन में घर के मालिक ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने उक्त कारतूस कब्जे में लेकर मामले की जांच शुरू कर दी है। मामला गांव के सतनाम सिंह के घर का है। यहां निर्माण के दौरान पुरानी दीवार गिराई गई तो उसमें से प्लास्टिक की सफेद रंग की एक कैनी मिली। कैनी में एके-47, 303 बोर व एसएलआर के 336 जिंदा कारतूस बरामद हुए तो सभी भौचक्के रह गए। 

गांव के दर्शन सिंह के बेटे सतनाम सिंह ने पुलिस को बताया कि घर के नवीनीकरण लिए पुराना ढांचा गिराया जा रहा था। पुरानी दीवार को जब गिराया तो उसमें से प्लास्टिक की सफेद रंग की एक कैनी मिली। कैनी को खोलकर देखा तो उसमें एके-47 राइफल के 251, एसएलआर राइफल के 80 और 303 रायफल के पांच कारतूसों सहित कुल 336 कारतूस बरामद हुए। मौके पर पुलिस को सूचना दी गई। सब डिवीजन पट्टी के डीएसपी कुलजिंदर सिंह, थाना सदर पट्टी के एसएचओ लखबीर सिंह व ड्यूटी अफसर एएसआइ बलविंदर सिंह मौके पर पहुंचे। पुलिस ने उक्त कारतूस कब्जे में लेकर अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

आतंकियों का गढ़ रहा है गांव

आतंकवाद के दौर समय गांव दासूवाल आतंकियों का गढ़ रह चुका है। इसी गांव से संबंधित आतंकी महिल सिंह बब्बर अब भी पाकिस्तान में शरण लिए हुए है। महिल सिंह खालिस्तान कमांडो फोर्स (केसीएफ) का चीफ है। जबकि इसी गांव का निवासी ए कैटागिरी का आतंकी वधावा सिंह बब्बर पुलिस मुठभेड़ दौरान मारा गया था। थाना प्रभारी लखबीर सिंह बताते है कि गांव दासूवाल के कई आतंकी पुलिस मुठभेड़ दौरान मारे जा चुके है। अब यह जांच की जा रही है कि उक्त गोली-सिक्का दीवार में किसने छिपाया था।

यह भी पढ़ें - जालंधर में बीच सड़क प्रेमी जोड़े की जमकर पिटाई, लड़की के घरवालों ने गेस्ट हाउस में कमरा लेते था पकड़ा

Edited By: Pankaj Dwivedi