जागरण संवाददाता, अमृतसर। एसआइ दिलबाग सिंह की बोलेरो में आइईडी लगाने के आरोप में पुलिस ने सतनाम सिंह उर्फ हन्नी को गिरफ्तार किया है। स्टेट स्पेशल सेल मोहाली ने यह गिरफ्तारी दिखाई है और जांच में सामने आया है कि आरोपित गैंगस्टर लखबीर लंडा द्वारा मुहैया करवाए जाने वाले वीजा पर दुबई भागने की फिराक में था। सतनाम सिंह मूल रूप से तरनतारन जिला के पट्टी का रहने वाला है। फिलहाल पुलिस ने मोहाली में भी एक असलाह एक्ट का केस दर्ज किया है।

2021 में हत्या के मामले में भी किया गया था नामजद

पता चला है कि मई 2021 में पट्टी स्थित एक दरगाह पर लखबीर लंडा के इशारे पर गैंगस्टर प्रीत सेखों ने अमनदीप सिंह उर्फ फौजी और परभदीप सिंह उर्फ पूरन की हत्या की थी। हत्या के मामले में मलकीत लड्डू, सुमेर सिंह उर्फ बिल्ला को गिरफ्तार किया गया था। जबकि सतनाम हन्नी और गौरवदीप सिंह उर्फ गौरी को मलकीत लड्डू से नजदीकी होने होने के कारण नामजद किया गया था।

गैंगस्टर लखबीर लंडा का है करीबी

डीजीपी कार्यालय की तरफ से जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि सतनाम कनाडा बैठे लखबीर लंडा का काफी करीबी है। एसआइ की बोलेरो को आइईडी लगाने के लिए लंडा के कहने पर सतनाम ने दीपक और युवराज को बाइक मुहैया करवाई थी। यही नहीं लखबीर द्वारा भेजी गई हथियारों और हेरोइन की कुछ खेपों का हिसाब भी सतनाम के पास है। सतनाम सिंह लगभग छह बार इस काम की मोटी रकम भी वसूल कर चुका है। सतनाम साल 2015 से अपने लखबीर के संपर्क में है और उसने आइईडी मामले में चार लाख रुपये, एक पिस्तौल और 20 राउंड कारतूस भी मंगवाए थे।

यह भी पढ़ेंः पंजाब के राज्यपाल का सीएम पर पलटवार, कहा- लगता है आपके कानूनी सलाहकार आपको सही राय नहीं दे रहे

Edited By: Vinay kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट