Move to Jagran APP

सीएम मान की पत्नी तक पहुंचा बयानबाजी का सिलसिला, बादल ने केबल टेलीविजन नेटवर्क पर कब्जा करने के लगाए आरोप

लोकसभा चुनाव के चलते बयानबाजी और पलटवार की सिलसिला भी बरकरार है। शिरोमणि अकाल दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल (Sukhbir Singh Badal) पहले सीएम भगवंत मान की अलोचना तो करते ही थे। अब उन्होंने उनकी पत्नी डॉ गुरप्रीत कौर भी गंभीर आरोप लगाए हैं। बादल ने कहा कि शिअद के सत्ता में लौटते ही उत्पाद शुल्क घोटाले सहित भ्रष्टाचार की जांच की जाएगी।

By Jagran News Edited By: Gurpreet Cheema Mon, 06 May 2024 06:26 PM (IST)
सुखबीर सिंह बादल ने सीएम मान की पत्नी पर लगाए आरोप

जागरण संवाददाता, होशियारपुर। मुख्यमंत्री भगवंत मान की पत्नी डाॅ. गुरप्रीत कौर केबल टेलीविजन नेटवर्क पर कब्जा करने की कोशिश कर रही हैं। अकाली दल के सत्ता में लौटने पर उत्पाद शुल्क घोटाले सहित भ्रष्टाचार की जांच की जाएगी। शिरोमणि अकाली दल बादल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने यह बात सोमवार को गढ़शंकर में पंजाब बचाओ यात्रा के दौरान कही है।

बादल ने कहा कि आम आदमी पार्टी सरकार जनता के गुस्से के कारण हताश हो गई है। अब लोकसभा चुनावों को प्रभावित करने के लिए धन का उपयोग हो रहा है। रिपोर्टों के अनुसार, लगभग 150 बड़े रियल एस्टेट डेवलपर्स को अपना चुनाव अभियान चलाने के लिए पार्टी को 5 करोड़ रूपये देने के लिए मजबूर किया जा रहा है।

रियल एस्टेट डेवलपर्स को निशाना बनाया जा रहा है क्योंकि कई मामलों में उनके प्रोजेक्टों को सरकारी मंजूरी की आवश्यकता होती है। इसीलिए उनके खिलाफ झूठे मामले दर्ज करने के अलावा उनका लाइसेंस रद करने की भी धमकी दी जा रही है। बादल ने कहा कि शिरोमणि अकाली दल की अगली सरकार बनने पर भ्रष्टाचार की जांच की जाने की घोषणा की।

ये भी पढ़ें: मालवा में कांग्रेस को बड़ा झटका, चुस्पिंदरबीर चहल अपने समर्थकों के साथ AAP में हुए शामिल

जनता 'आप' के अधूरे वादों पर पूछ रही है सवाल: बादल

इस दौरान वरिष्ठ कांग्रेस नेता आरपी सिंह का अकाली दल में स्वागत किया। उन्होंने कहा कि आरपी सिंह का गुज्जर समुदाय के बीच बहुत बड़ा सम्मान है और उनके पार्टी में आने से बलाचैर में अकाली दल मजबूत होगा।

'आप' पर निशाना साधते हुए बादल ने कहा कि अन्य पार्टियों के उम्मीदवारों को प्रचार करना भी मुश्किल हो रहा है, क्योंकि लोग उनसे सरेआम सवाल कर रहे हैं कि उन्होने किसानों, कमजोर वर्गों और नौजवानों को धोखा क्यों दिया। यहां तक कि मुख्यमंत्री भगवंत मान को भी लोगों को अत्यधिक सुरक्षा बल का उपयोग किए बिना प्रचार करना मुश्किल हो रहा है। क्योंकि लोग उनकी सरकार से अधूरे वादों और असफलताओं के बारे में सवाल पूछ रहे हैं।