Move to Jagran APP

Punjab Crime: पंजाब से पड़ोसी मुल्क को सेना की जानकारी भेजता था पाक जासूस, बदले में मिलती थी मोटी रकम; गिरफ्तार

पंजाब पुलिस ने पाकिस्तान के लिए जासूसी कर रहे एक शख्स को गिरफ्तार किया है। आरोपी पाकिस्तान को भारतीय सेना से जुड़ी जानकारी (Punjab Crime) भेजता था। जिसके बदले में उसे मोटी रकम मिलती थी। पुलिस आरोपी से पूछताछ करेगी। जिसमें कई राज खुलने की संभावना है। थाना मॉडल टाउन पुलिस ने इस बाबत मामला दर्ज कर आगे की कार्यवाही शुरू कर दी है।

By Jagran News Edited By: Prince Sharma Fri, 03 May 2024 11:24 AM (IST)
Punjab Crime: पाकिस्तान को सेना की जानकारी भेजता था लुधियाना का शख्स

जागरण संवाददाता, होशियारपुर। Punjab Crime: थाना मॉडल टाउन पुलिस ने पाकिस्तानी के लिए जासूसी करने वाले एक आरोपित को गिरफ्तार करके मामला दर्ज किया है। आरोपित से पूछताछ की जा रही है। आरोपित से कई राज खुलने की उम्मीद है।

होशियारपुर का निवासी है आरोपी

आरोपित की पहचान गुरप्रीत सिंह उर्फ पास्टर निवासी फतेहपुर सूगा थाना भिखीविंड तरनतारन (वर्तमान निवासी बाजीगर मोहल्ला पुरहीरां होशियारपुर) के रूप में हुई है।

डीएसपी सिटी अमरनाथ ने बताया कि वीरवार रात को थाना मॉडल टाउन के एसएचओ राम सिंह रेलवे फाटक क्रासिंग के पास नाकेबंदी की थी।

पुलिस को गुप्त सूचना मिली की फतेहपुर सूगा का गुरप्रीत सिंह होशियारपुर में पिछले चार साल से रह रहा है। वह विजिटर वीजा से पाकिस्तान भी जाकर आया है। वह यहां पर रहकर पाकिस्तान (Pakistan) के लिए जासूसी करता है।

यह भी पढ़ें- Punjab News: 'BJP की सीटें कम हुईं तो सबसे पहले समर्थन देगी AAP...', कांग्रेस विधायक परगट का पंजाब सरकार पर आरोप

फर्जी दस्तावेजों से खरीदी थी सिम

उसने फर्जी दस्तावेजों से  सिम खरीदकर वाट्सएप के माध्यम से भारतीय सेना की की तमाम सूचनाएं पाकिस्तान भेजता है।

इसके बदले में वह पाकिस्तान से मोटे पैसे लेता है। इसके बाद हरकत में आई पुलिस पार्टी ने गुरप्रीत सिंह को पुरहीरां के पास से गिरफ्तार कर लिया।

उसके कब्जे से काले रंग का हैंड बैग मिला, जिसमें से आधार कार्ड, लेबर कार्ड, पासपोर्ट और एक मोबाइल फोन बरामद हुआ है। पुलिस को तमाम ऐसे सबूत हाथ लगे हैं, जिससे साफ हो गया है कि गुुरप्रीत पाकिस्तान के लिए जासूसी करता है।

यह भी पढ़ें- Chandigarh Crime: बल्ड डोनेशन कैंप से खुली 14 साल पुराने हत्याकांड की गुत्थी, पुलिस चार वर्ष पहले बंद कर चुकी थी केस