फिरोजपुर [प्रदीप कुमार सिंह]। जम्मू-कश्मीर के उड़ी सेक्टर में भारतीय सेना पर हुए आतंकवादी हमले के बाद सुरक्षा के मद्देनजर भारत-पाकिस्तान सरहद पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सीमा से सटे संवेदनशील प्वाइंटों पर बीएसएफ की अतिरिक्त बटालियन तैनात कर वरिष्ठ अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। फिरोजपुर बार्डर रेंज बीएसएफ के डीआइजी आरके थापा ने बताया कि सरहद की सुरक्षा में बीएसएफ जवान चौबीस घंटे तैनात हैं। फिर भी सरहद की सुरक्षा को लेकर उच्च अधिकारियों से अतिरिक्त बटालियन की मांग की गई है।

इसके अलावा तीन राज्यों में फैले फिरोजपुर मंडल रेलवे के 1850 किलोमीटर लंबे परिचालन क्षेत्रफल का लगभग 360 किलोमीटर ट्रैक भारत-पाक सीमा के बिलकुल पास से गुजरता है। इतने लंबे ट्रैक व यहां से गुजरने वाली रेलगाड़ियों की सुरक्षा आरपीएफ के लिए चुनौती है। आरपीएफ के वरिष्ठ सुरक्षा आयुक्त शांदा जेब खान ने बताया कि रविवार सुबह से ही आरपीएफ को हाई अलर्ट पर रखा गया है और सभी संदिग्ध प्वाइंटों की निगरानी की जा रही है।

पढ़ें : बेटी ने मां को बहाने से भेजा बाजार, फिर ...

रेलगाड़ियों की सुरक्षा भी बढ़ाई गई है। वहीं, जिले के सरहदी गांवों व कस्बों में पुलिस भी पूरी तरह अलर्ट है। एसएसपी आरके बख्शी ने बताया कि सरहद की ओर जाने वाली सड़कों पर नाके लगा दिए गए हैं और पुलिस पूरे जिले में चौकसी बरत रही है।

पढ़ें : महिला युवक के साथ कमरे में भतीजी को कर देती थी बंद, ...फिर होता था यह

22 को दिल्ली में बुलाई अधिकारियों की बैठक

संवेदनशील फिरोजपुर जिले की सुरक्षा में तैनात केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों के आला अधिकारियों की आकस्मिक बैठक 22 सितंबर को दिल्ली में बुलाई गई है। सूत्रों के अनुसार बैठक में अधिकारियों को उन सभी दस्तावेज को साथ लेकर आने को कहा गया है, जो कि सरहद की सुरक्षा से जुड़े हैं। हालांकि यह बैठक हर तीसरे माह होती है, जो कि अगले महीने प्रस्तावित थी। लेकिन रविवार सुबह उड़ी में हुई आंतकी वारदात के बाद केंद्र सरकार के कड़े रुख को देखते हुए यह बैठक 22 सितंबर को ही बुला ली गई है।

पढ़ें : पति ने छोड़ा तो ससुराल पहुंची युवती गेट फांदकर घर में घुसी, फिर हुआ ऐसा तमाशा

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!