संस, फाजिल्का: पंजाब भर में वैसे तो कई महोत्सव होतें होंगे, लेकिन फाजिल्का में पिछले 10 साल से ऐसा आनंद महोत्सव चल रहा है जिसके तहत फाजिल्का शहर को लगातार हरा भरा बनाने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। इस महोत्सव के तहत सावन माह के दौरान पौधारोपण अभियान चलाया जाता है, जोकि इस बार 18 जुलाई को चलने जा रहा है।

इस महोत्सव को चलाने वाली ग्रेजुएट वेलफेयर सोसायटी अब तक फाजिल्का में 10 से 12 हजार पौधे लगा चुकी है, जिनमें से चार हजार के करीब पौधे बड़े होकर पेड़ बन चुके हैं। वहीं इस साल के आनंद महोत्सव को सोसायटी के संरक्षक एवं ऊर्जा पुरुष कहलाए जाने वाले भूपिंद्र सिंह को समíपत किया गया है। फाजिल्का शहर के वातावरण प्रतिशत की बात करें तो यह एक प्रतिशत से भी कम है। लगातार बढ़ रही आबादी और लगातार निर्माण किए जा रहे भवनों के चलते पेड़ो की संख्या लगातार कम होती जा रही है। ग्रेजुएट वेलफेयर सोसायटी की ओर से सैटेलाइट के माध्यम लिए गए आकड़ों के अनुसार फाजिल्का में तीन मीटर तक के लगभग 5055 पेड़ हैं, जबकि आबादी की बात की जाए तो 100 घरों के पीछे केवल 24 पेड़ हैं, जोकि अपने आप में ही चिंता का विषय है। पर्यावरण को बचाने के लिए हर घर के पीछे एक पौधा होना चाहिए, जिससे हमारा आसपास शुद्ध हो सके। फाजिल्का की ग्रेजुएड वेलफेयर सोसायटी हर साल महोत्सव का आयोजन करके इस तरह का प्रयास कर रही है।

1500 से 2000 पौधे लगाएगी सोसायटी

सोसायटी के सचिव नदवीप असीजा ने बताया कि सोसायटी की ओर से हर साल एक हजार से लेकर 1500 तक पौधे वितरित करने और लगाने का लक्ष्य रखा जाता है, जिसके तहत इस बार 1500 से 2000 पौधे शहर में लगाए जाएंगे के बीच शहर में पौधे लगाए जाएंगे। खासकर उन जगहों पर पौधे लगाए जाएगे, जहा रिहायशी मकान तो तेजी के साथ बन रहे हैं, लेकिन वहा पेड़ों की संख्या ना के बराबर है। इसके लिए गवफ की पूरी टीम द्वारा सहयोग किया जा रहा है।

---

वाट्सअप पर काल करके मंगवाएं पौधा

सचिव नवदीप असीजा ने बताया कि वैसे तो हर साल ही वाट्सअप के माध्यम से पौधों का वितरण किया जाता है। लेकिन इस बार नई थीम तैयार की गई है, जिसके तहत जो भी वाट्स के जरिए मैसेज करेगा उन्हें एक एप के जरिए इस महोत्सव से जुड़ने के लिए आभार जताया जाएगा और वितरित किए जाने वाले पौधों संबंधी जागरूक किया जाएगा। इसके अलावा जो भी व्यक्ति फोन के जरिए पौधे मंगवाएंगे, उन्हें आक्सी वैन के जरिए उक्त व्यक्ति के घर पर जाकर लगाया जाएगा, जिसके लिए बकायदा पौधे लगाने वाला व्यक्ति भी भेजा जाएगा।

गंदगी वाली जगहों पर बनेगा आक्सी पार्क

इस अभियान की मुख्य बात यह है कि सोसायटी शहर की उन जगहों का चयन करेगी, जहा जगह खाली और गंदगी फैली हो। वहा सोसायटी द्वारा सफाई करवाकर आक्सी पार्क बनाया जाएगा। यानि उस जगह पर आक्सीजन बाटने वाले पौधे लगाए जाएंगे। सचिव असीजा ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। ऐसे में उक्त पार्क ना केवल लोगों के लिए लाभदायक साबित होंगे, बल्कि वहा गंदगी से निजात भी मिलेगी।

Edited By: Jagran