चंडीगढ़, जेएनएन। पंंजाब में दो आतंकियों को गिरफ्तार किया गया है। पंजाब पुलिस ने इन खालिस्‍तान आतकियों को हथियारों और गोली-विस्‍फोटक के साथ पकड़ा है। उनको राजपुरा के पास राजपुरा-सरहिंद रोड पर पकड़ा गया। आतंकियों की पंजाब में बड़ी साजिश थी। दोनों आतंकी अमृतसर जेल में बंद पांच ख‍ालिस्‍तानी आतंकियों के इशारे पर पंजाब मेें आतेकी हमले करने की फिराक में थे।

पाकिस्तान समर्थन वाले माड्यूल का पर्दाफाश, पंजाब में फैसला चाहते थे अशांति

पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्‍ता ने बताया कि पुलिस ने पंजाब में आतंकियों की धर-पकड़ के लिए अभियान चला रखा है। इसी दौरान इन आतंकियों को पकड़ा गया। ये दोनों आतंकी हरजीत सिंह उर्फ राजू और शमशेर सिंह उर्फ शेरा तरनतारन जिले के मियानपुर गांव के रहनेवाले हैं।

आतंकियों से बरामद हथियार।

डीजीपी ने बताया कि उनके पास से एक 9 एमएम पिस्टल, चार .32 कैलिबर पिस्टल और एक .32 रिवाल्वर, आठ कारतूस व विस्‍फोट कई मोबाइल फोन और एक इंटरनेट डोंगल जब्त किया गया। उनको राजपुरा में होटल जशन के पास चेकपोस्ट पर पकड़ा गया।

उन्‍होंने बताया कि ये आतंकी पंजाब में बड़ी आतंकी वारदात करने की फिराक में थे। इनकी गिरफ्तारी से एक और आतंकी माड्यूल का खुलासा हुआ है। ये आतंकी खालिस्‍तान जिंदाबाद फोर्स (KZF) से जुड हैं और वे अमृतसर जेल में बंद केजेएफ के पांच आतंकियों के साथ मिलकर उनके इशारे पर काम कर रहे थे। उनकी गिरफ्तारी से पंजाब में आतंकी गतिविधियों को लेकर बड़ी जानकारी मिलने की उम्‍मीद है।

बता दें कि पंजाब में लगातार खालिस्‍तानी आतंकी पकड़ जा रहे हैं। डीजीपी दिनकर गुप्‍ता ने बताया कि पाकिस्‍तान से जुुड़े आतंकी संगठनों व गुटों के पंजाब में शांति और सद्भाव भंग करने के नापाक मंसूबों के बारे में खुलासा हुआ है। ये आतंकी बड़ी वारदात कर पंजाब में हिंसा फैलाना चाहते हैं और सांप्रदायिक सद्भाव भी भंग करना चाहते हैं।

डीजीपी गुप्‍ता ने कहा कि आतंकी इनपुट मिलने के बाद पंजाब पुलिस ने ऐसे तत्‍वों के खिलाफ अभियान चलाया है। अभियान के तहत राज्‍य के विभिन्‍न स्‍थानों पर चेकिंग और तलाशी अभियान चला रखा है इसी दौरान इन दो खालिस्‍तानी आतंकियों को पकड़ा गया। उनके खिलाफ भादसं की धाराओं 12, 216, 120बी और शस्‍त्र अधिनियम 25/54/59 सहित अन्‍य धाराओं के तहत एफआइआर दर्ज किया गया है।

डीजीपी दिनकर गुप्‍ता ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में दोनों आतंकियों ने कई खुलासे किए हैं। आतंकियों ने बताया कि उनको मध्‍य प्रदेश के बुरहानपुर से चार हथियार और हरियाणा के जींद के सफीदाें से दो हथियार प्राप्‍त हुए थे। डीजीपी ने बताया कि दोनों आतंकियों के खिलाफ तरनतारन के सराई अमानत कलां थाने में हत्‍या के प्रयास और शस्‍त्र अधिनियम के तहत केस दर्ज भी दर्ज है।

डीजीपी गुप्‍ता ने बताया कि प्रारंभिक पूछताछ में खुलासा हुआ है कि आतंकी हरदीप और शमशेर अमृतसर जेल में बंद पांच केजेडएफ आतंकियों अमृतपाल सिंह, शुभदीप सिंह उर्फ शुभ, रणदीप सिंह, गोल्‍डी और आशु के इशारे पर पंजाब में बड़ी आतंकी वारदात करने की साजिश में था।

डीजीपी ने बताया कि  शुभदीप सिंह केजेडएफ का सक्रिय आतंकवादी था। उसे पुलिस ने सितंबर 2019 में अमृतसर ग्रामीण के गांव महावा से चीन निर्मित ड्रोन के बरामद होने के बाद गिरफ़्तार किया था। पिछले साल अप्रैल में एनआइए ने उसके साथ अकाशदीप सिंह, बलवंत सिंह, हरभजन सिंह, बलबीर सिंह, मान सिंह, गुरदेव सिंह, साजनप्रीत सिंह और रोमनदीप सिंह समेत आठ अन्यों के खि़लाफ़ मोहाली की एनआइए कोर्ट में आरोपपत्र दाखि़ल किया था।

यह भी पढ़ें: नौकरी ढूंढ रहे चंडीगढ़ के युवक से बोली युवती- मैं तुमसे संबंध बनाना चाहती हूं, ...और फिर ऐसे गंवा दिए लाखों

 

यह भी पढ़ें: हरियाणा IAS अशोक खेमका का एक और ट्वीट, पूछा-आढ़तियों को दो हजार करोड़ के कमीशन क्‍यों

यह भी पढ़ें: फर्जी लेटर से लाखों रेलकर्मियों में जगी बोनस की उम्मीद, बाद में रेलवे ने बताई असलियत

 

यह भी पढ़ें: मिलिए हरियाणा के 'चाइल्‍ड स्पाइडरमैन' से, दीवार पर चढ़ जाता है तीन साल का विराट

 


 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!