Move to Jagran APP

सर्दियों में ट्रेनों का सफर सुरक्षित, धुंध के साथ शताब्दी ट्रेनों में बढ़ने लगे यात्री, जनशताब्दी में सीट नहीं

चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन के स्टेशन अधीक्षक जेपी सिंह ने बताया कि मौसम में बदलाव का असर ट्रेन यातायात पर भी देखने को मिलता है। जैसे -जैसे धुंध घनी होती जाएगी वैसे वैसे शताब्दी ट्रेनों में यात्री संख्या बढ़ती जाएगी।

By Vikas SharmaEdited By: Ankesh ThakurPublished: Wed, 16 Nov 2022 04:43 PM (IST)Updated: Wed, 16 Nov 2022 04:43 PM (IST)
सर्दियों में लोग ट्रेन से सफर करना ज्यादा सुरक्षित मानते हैं। फाइल फोटो

जागरण संवाददाता, चंडीगढ़। मौसम के बदलने के साथ ही शताब्दी ट्रेनों की यात्री संख्या में इजाफा होने लगा है। हरियाणा में धुंध गिरना शुरू हो गई, जिस वजह से लोग अपने वाहनों से दिल्ली का सफर करने से परहेज करते हैं। इस मौसम में लोगों को ट्रेन का सफर सुरक्षित लगता है। इसके अलावा लोग ट्रैफिक जाम से भी परेशान नहीं होते हैं।

चंडीगढ़ से नई दिल्ली के बीच मौजूदा समय में पांच सुपरफास्ट ट्रेनें चल रही हैं। इन सुपरफास्ट ट्रेनों में पहली कालका - नई दिल्ली शताब्दी ट्रेन (12006) चंडीगढ़ से सुबह 6:53 बजे, दूसरी ट्रेन ऊना नई दिल्ली जन शताब्दी (12058) सुबह 7:43 बजे, तीसरी ट्रेन चंडीगढ़ नई दिल्ली शताब्दी (12046) दोपहर 12 बजे, चौथी ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन दोपहर 3:30 बजे और पांचवी ट्रेन कालका -नई दिल्ली शताब्दी (12012) शाम 6:28 बजे चंडीगढ़ से दिल्ली के लिए रवाना होती है। मौजूदा समय में चंडीगढ़ से हर तीन घंटे बाद नई दिल्ली के लिए सुपरफास्ट ट्रेन मिलती है। ऐसे में इन ट्रेनों में खासी भीड़ देखने को मिल रही है। ऊना-नई दिल्ली जनशताब्दी में अगले चार दिन तक कोई सीट उपलब्ध नहीं है।

वीकेंड में फुल रहती हैं शताब्दी ट्रेनें

चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन के स्टेशन अधीक्षक जेपी सिंह ने बताया कि मौसम में बदलाव का असर ट्रेन यातायात पर भी देखने को मिलता है। जैसे -जैसे धुंध घनी होती जाएगी वैसे वैसे शताब्दी ट्रेनों में यात्री संख्या बढ़ती जाएगी। उन्होंने कहा कि अभी धुंध ज्यादा पड़ना शुरू नहीं हुई है। बावजूद इसके शताब्दी ट्रेनों में यात्री संख्या बढ़ना शुरू हो गई है। इसमें पांच से सात फीसद का इजाफा हुआ है। चंडीगढ़ से जाने वाले शताब्दी ट्रेनों में 70 फीसद बुकिंग और ऊना जनशताब्दी 100 फीसद फुल जा रही है। वीकेंड पर वंदे भारत समेत सभी शताब्दी ट्रेनें वीकेंड में फुल रहती हैं।

वंदे भारत की वजह से शताब्दी के यात्री घटे

स्टेशन अधीक्षक जेपी सिंह ने बताया कि चंडीगढ़ से दिल्ली के बीच पांच सुपरफास्ट ट्रेनें चलती हैं। वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन चलने से शताब्दी के यात्रियों में कोई कमी नहीं आई है। चंडीगढ़ से जाने वाली सभी सुपरफास्ट ट्रेनोंं के समय में तीन घंटे से ज्यादा का अंतराल है इसलिए सभी ट्रेनों की यात्रियों की निश्चित संख्या रहती है। इन ट्रेनों की औसतन 70 फीसद सीट बुक रहती है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.