Move to Jagran APP

Punjab News: शराब ब्रांड पंजीकरण को नवीनीकरण करने की प्रक्रिया अब होगी ऑनलाइन, इसके पीछे ये है मकसद

व्यापार करने में और आसानी हो जिसको लेकर उत्पाद शुल्क और कराधान विभाग यूटी प्रशासन (UT Administration) ने शराब ब्रांड पंजीकरण को नवीनीकरण करने की प्रक्रिया को ऑनलाइन कर दिया है। इसके ऐसा करने का मकसद आवेदन प्रक्रिया को सुव्यवस्थित और तेज करना है। इसके अलावा कागजी कार्रवाई को कम करना और भौतिक यात्राओं की आवश्यकता को समाप्त करना आदि है।

By Agency Edited By: Monu Kumar Jha Published: Mon, 01 Apr 2024 09:29 AM (IST)Updated: Mon, 01 Apr 2024 09:29 AM (IST)
Punjab News: शराब ब्रांड पंजीकरण को नवीनीकरण करने की प्रक्रिया अब होगी ऑनलाइन, इसके पीछे ये है मकसद
UT Administration: शराब ब्रांड पंजीकरण को नवीनीकरण करने की प्रक्रिया अब होगी ऑनलाइन। फाइल फोटो

एएनआई, चंडीगढ़। (Liquor Brand Registration Renewal Online) एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि व्यापार करने में आसानी को बढ़ावा देने के लिए उत्पाद शुल्क और कराधान विभाग यू.टी., चंडीगढ़ ने शराब ब्रांड / लेबल पंजीकरण के स्वचालित नवीनीकरण को सक्षम करने के लिए नई उत्पाद शुल्क नीति 2024-25 में एक प्रावधान शामिल किया था।

loksabha election banner

पिछले साल ऑटो-मोड में पहले ही मिल चुकी मंजूरी

चंडीगढ़ प्रशासन (Chandigarh Administration) द्वारा जारी प्रेस रिलीज के अनुसार ऑनलाइन प्रणाली का लाभ उठाते हुए लाइसेंस उन शराब लेबल/ब्रांडों को नवीनीकृत कर सकता है। जिन्हें पिछले साल एक सरल प्रक्रिया के माध्यम से ऑटो-मोड में पहले ही मंजूरी दे दी गई थी।

पहले से लागू  ब्रांडों के लेबल में कोई बदलाव नहीं

अब, लाइसेंसधारियों को अपने शराब लेबल/ब्रांड आवेदन, आवश्यक दस्तावेजों और शुल्क के साथ, ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से इस शपथ पत्र के साथ जमा करने की सुविधा होगी कि नवीनीकरण के लिए और साथ ही पूर्व में लागू ब्रांडों के लेबल में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

डिस्टिलरी/ब्रूअरी/वाइनरी ब्रांड की कीमत और बोतल पर चिपकाया जाने वाला लेबल (आगे और पीछे) और लेबल का आकार, रंग, प्रिंटिंग, एफएसएसएआई लाइसेंस नंबर आदि। इसमें कहा गया है कि आवश्यक शुल्क के भुगतान के बाद मंजूरी तुरंत ऑटो मोड पर जारी की जाएगी।

इस पहल का ये है उद्देश्य

इस पहल का उद्देश्य आवेदन प्रक्रिया को सुव्यवस्थित और तेज करना, कागजी कार्रवाई को कम करना और भौतिक यात्राओं की आवश्यकता को समाप्त करना, प्रक्रिया को तेज और अधिक सुव्यवस्थित बनाना है। प्रौद्योगिकी का लाभ उठाकर विभाग आवेदकों को लेबल पंजीकरण प्रक्रिया के ऑटो नवीनीकरण की अखंडता को बनाए रखते हुए एक सहज और अधिक सुविधाजनक अनुभव प्रदान करेगा।

उत्पाद शुल्क और कराधान विभाग सभी आवेदकों को ऑटो-नवीनीकरण और ब्रांडों के नए पंजीकरण दोनों के लिए पोर्टल के माध्यम से अपने आवेदन ऑनलाइन जमा करके इस सुव्यवस्थित प्रक्रिया का लाभ उठाने के लिए प्रोत्साहित करता है।

यह भी पढ़ें: Chandigarh News: सोच समझ कर करें पानी का इस्तेमाल, वाटर टैरिफ में हुई पांच फीसदी की बढ़ोतरी; गारबेज और शराब के भी बढ़े दाम

यह भी पढ़ें: Lok Sabha Election 2024: 'पुराने काडर को साथ-साथ लेकर...', भाजपा प्रत्याशी घोषित होने के बाद बोलीं परनीत कौर


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.