राजेश ढल्ल, चंडीगढ़। कांग्रेस के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन कुमार बंसल ने स्पष्ट किया कि वह राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए नामांकन पत्र दाखिल नहीं कर रहे हैं। बंसल ने दैनिक जागरण से विशेष बातचीत में यह बात कही। बंसल ने कहा कि उनके नाम का बेवजह शोर मचाया जा रहा है। उनके नामांकन पत्र दाखिल करने की बात पर कोई सच्चाई नहीं है।

बता दें, आज मीडिया में इसकी चर्चा थी कि पवन बंसल कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल कर सकते हैं। पवन बंसल राष्ट्रीय अध्यक्षा सोनिया गांधी के करीबी माने जाते हैं। बंसल चंडीगढ़ से चार बार सांसद रह चुके हैं और चंडीगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

पवन बंसल चंडीगढ़ से अगला लोकसभा चुनाव लड़ने से भी इन्कार कर चुके हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री पवन कुमार बंसल चंडीगढ़ से पिछला लोकसभा चुनाव सांसद किरण खेर से हार गए थे। वह यूपीए-2 सरकार में रेल मंत्री बने थे। रेल मंत्री के साथ-साथ वह संसदीय कार्य मंत्री के अलावा जल संसाधन मंत्री भी रह चुके हैं।

जब से इंटरनेट मीडिया पर यह बात वायरल हुई है कि पवन बंसल राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव के लिए नामिनेशन पेपर लेकर गए हैं तब से चंडीगढ़ कांग्रेस के नेता भी खुश थे। वह संभावना जताने लगे थे कि पवन बंसल राष्ट्रीय अध्यक्ष बन सकते हैं, जिससे चंडीगढ़ कांग्रेस को फायदा होगा।

पवन बंसल ने अपनी राजनीति पंजाब कांग्रेस से शुरू की थी। वह पंजाब युवा कांग्रेस के भी अध्यक्ष रह चुके हैं। इसके अलावा सबसे पहले वह पंजाब से राज्यसभा के सदस्य बने थे। पवन बंसल की गिनती कांग्रेस में सीनियर नेताओं में आती है।

चंडीगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष हरमोहिंदर सिंह लक्की का कहना है कि उनकी भी पवन बंसल से बात हुई है। उनसे बातचीत में भी बंसल ने कहा कि वह राष्ट्रीय अध्यक्ष के चुनाव में नामांकन दाखिल नहीं कर रहे हैं। उनका कहना है कि पवन बंसल काफी समझदार और मेहनती नेता हैं।

Edited By: Kamlesh Bhatt

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट