चंडीगढ़, जेएनएन। पंजाब में कोराेना के बढ़ते मामलों का असर अब यहां के लोगों के पर्यटन पर भी पड़ रहा है। पंजाब के लोगों के अन्‍य राज्‍य में प्रवेश को लेकर कोराेना की निगेटिव टेस्‍ट रिपोर्ट की शर्त लगाई जा रही है। हिमाचल प्रदेश और उत्‍तराखंड द्वारा पंजाब के लाेगों के आने के लिए 72 घंटे के अंदर की कोरोना निगेटिव की रिपोर्ट अनिवार्य करने के बाद अन्‍य राज्‍यों में ऐसी रोक लग रही है। ओडि़सा के पुरी में भी पंजाब के लोगों के लिए यह शर्त लागू कर दी गई है। ऐसे में पुरी सहित किसी भी धर्म व पर्यटक स्‍थल पर जाने की योजना है तो इस बात का ध्‍यान रखें, अन्‍यथा भारी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

हिमाचल प्रदेश और उत्‍तराखंड पहले ही पंजाब के लोगों के लिए कोरोना टेस्‍ट की रिपोर्ट की शर्त लगा चुके हैं। इस पर पंजाब सरकार की ओर से सवाल भी उठाए गए थे, लेकिन राज्‍य में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले लगातार बढ़़ रहे हैं। पंजाब से काफी संख्‍या में लोग हिमाचल प्रदेश व उत्‍तराखंड के धार्मिक स्‍थानों और पर्यटक स्‍थलों पर जात‍े हैं। उत्‍तराखंड में श्री हेमकुंड साहिब काफी संख्‍या में पंजाब से सिख जाते हैं। हरिद्वार में कुंभ मेले में जाने वाले यात्रियों को भी अपनी कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट दिखाने के आदेश उत्तराखंड सरकार ने दिए हुए हैं।

इसके बाद अब श्री जगन्‍नाथ पुरी की यात्रा के लिए भी पंजाब के श्रद्धालुओं को खास ऐहतियात बरतनी पड़ेगी। पंजाब से श्री जगन्‍नाथ पुरी काफी संख्‍या में लोग जाते हैं। ऐसे में अब बिना कोरोना की नेगेटिव टेस्‍ट रिपोर्ट लेकर वहां जाना पंजाब के लोगाें के लिए परेशानी पैदा कर सकता है। इसके साथ ही अपना पहचान पत्र भी जरूर साथ रखना चाहिए। होटलों में भी पंजाब सहित पांच राज्‍याें के पर्यटकों पर खास नजर रखी जाएगी।

पुरी में प्रवेश पर वहां जिला प्रशासन ने प्रतिबंध जारी कर कहा है कि महाराष्ट, केरल, पंजाब, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ से आने वाले लोगों को 72 घंटे के अंदर की कोरोना निगेटिव रिपोर्ट दिखानी अनिवार्य होगी। इसके साथ ही शहर के चारों तरफ से प्रवेश मार्ग पर पर्यटक सहायता केंद्रों में कोविड रिपोर्ट जांच की जाएगी। इसके साथ ही होटलों में भी इन पर्यटकों की निगरानी की जाएगी और उनमें कोरोना के लक्षण मिलने पर होटल प्रबंधकों को इसकी सूचना स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम को देने का निर्देश दिया गया है।

बता दें कि पंजाब में यूक वेरियंट के कोरोना वायरस के मामले सामने आ रहे हैं। राज्‍य में पिछले 16 दिनों से कोरोना के दूसरी लहर चल रही है। इस दौरान राज्य में 51,650 नए मरीज सामने आ चुके है। जबकि 1018 मरीजों की मौत हो चुकी है। वर्तमान में पंजाब में 25,913 एक्टिव मरीज है।कोरोना के कारण नाइट कर्फ्यू लागू है। राज्‍य के पर्यटक और धार्मिक स्‍थलों पर अभी कोई प्रतिबंध लागू नहीं हुआ है। गुरुनगरी अमृतसर में श्री दरबार साहिब और श्री दुर्ग्‍याणा तीर्थ में काफी संख्‍या में श्रद्धालु आते हैं।

पाक जाने वाले जत्थे का होगा कोरोना टेस्ट

उधर, खालसा साजना दिवस पर गुरुद्वारा पंजा साहिब पाकिस्तान जा रहे जत्थे के लिए कोरोना टेस्ट करवाना जरूरी होगा। एसजीपीसी के सचिव महिंदर सिंह ने बताया कि जत्थे को भेजने संबंधी पाकिस्तान अंबेसी को सभी की डिटेल भेज दी गई है। इसलिए सरकारी नियमों के मुताबिक सभी का 72 घंटे पहले कोरोना टेस्ट करवाना जरूरी है।

इसके लिए एसजीपीसी दफ्तर में सेहत विभाग की ओर से नौ और 10 अप्रैल को सुबह 9.30 बजे से कोरोना टेस्ट के लिए कैंप लगाया जा रहा है। जिन्होंने भी अपने पासपोर्ट जमा करवाए है, वह अपना कोरोना टेस्ट 9 और 10 अप्रैल को यहां आकर करवा सकते हैं। इसके अलावा कोई भी व्यक्ति अपने तौर पर भी 72 घंटे पहले तक अपने तौर पर भी टेस्ट करवा सकता है।

पंजाब से जगन्‍नाथ पुरी और अन्‍य राज्‍यों जाएं तो बरतें ये ऐहतियात

  • यात्रा शुरू करने और संबंधित जगह पर पहुंचने से 72 घंटे पहले का कोरोना नेग‍िटिव टेस्‍ट रिपोर्ट जरूर लेकर जाएं।
  • संबंधित जगह पहुंचने के बाद रिपोर्ट दिखाने के साथ ही उसे संभाल कर रखें। इसकी जरूरत होटल में रुकने से लेकर पर्यटक स्‍थलों पर भ्रमण के दाैरान पड़ सकती है।
  • अपने और साथ में गए परिवार के सदस्‍यों की कोरोना नेग‍िटिव रिपोर्ट के साथ ही पहचान के दस्‍तावेज भी जरूर रखें।
  • भीड़ भाड़ में जाने से पूरी तरह बचें और कोरोना गाइडलाइन्‍स का पालन करें। होटल या ठहरने की जगह पर भी पूरी ए‍ेहतियात बरतें।
  • कोरोना के लक्षण मिलने पर स्‍थानीय अधिकारियों या होटल प्रबंधकों को अविलंब जानकारी दें।
  • हाेटल व पर्यटन स्‍थलाें के भ्रमण के दौरान मास्‍क जरूर लगाएं।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021