चंडीगढ़, जेएनएन। इस गणतंत्र दिवस पर दिल्ली राजपथ पर चंडीगढ़ की झांकी देखने को नहीं मिलेगी। चंडीगढ़ प्रशासन ने कैपिटल कांप्लेक्स के थीम पर जो प्रेजेंटेशन तैयार की थी, उसे सेलेक्शन कमेटी से मंजूरी नहीं मिल सकी है। प्रशासन के अधिकारियों ने दिल्ली में इस थीम पर प्रेजेंटेशन दी थी। दूसरे राज्यों और यूटी ने भी अपनी प्रेजेंटेशन दी थी। शुक्रवार को जिन राज्यों और यूटी के डिजाइन का झांकी के लिए चयन हुआ, उन्हें मेल के जरिये सूचना भेजी गई। लेकिन चंडीगढ़ को ऐसी कोई ई-मेल नहीं मिली।

यूटी प्रशासन ने पहले मॉडर्न जेल बुडै़ल, सुखना लेक और गार्ड्स ऑफ चंडीगढ़ तीन सब्जेक्ट पर झांकी बनाने के लिए प्रस्ताव भेजा था। लेकिन गृह मंत्रालय ने इन तीनों थीम के बजाय वर्ल्ड हेरिटेज कैपिटल कांप्लेक्स पर प्रेजेंटेशन तैयार करने के लिए कहा था। लेकिन अब इस थीम को भी मंजूरी नहीं दी गई। लगातार तीसरी बार ऐसा होगा जब राजपथ पर चंडीगढ़ की झांकी नहीं होगी।

2016 में दिखी थी चंडीगढ़ की झांकी

इससे पहले 2016 में झांकी दिखी थी। कैपिटल कांप्लेक्स, रॉक गार्डन और शहर की ग्रीनरी व क्वालिटी ऑफ लाइफ को इसमें दर्शाया गया था। मॉडर्न आर्किटेक्चर वर्क और ग्रीनरी ही इसका थीम था। जिसमें ओपन हैंड मॉन्यूमेंट, कैपिटल कांप्लेक्स, ग्रीनरी और पार्कों में पिकनिक मनाते लोग और बच्चे दिखाए गए थे। 2018 में प्रशासन ने परेड के लिए कैपिटल कांप्लेक्स, रोज गार्डन और सुखना लेक थीम पर झांकी का प्रस्ताव केंद्र सरकार के पास भेजा था।

2017 में इंटरनेशनल डॉल म्यूजियम के थीम पर भेजा था प्रस्ताव

2017 में प्रशासन ने इंटरनेशनल डॉल म्यूजियम के थीम पर झांकी का प्रस्ताव भेजा था। गणतंत्र दिवस परेड के लिए सभी राज्यों और यूटी से अलग-अलग थीम पर प्रस्ताव मांगे जाते हैं। जो थीम फाइनल होता है, उसके आधार पर ही रक्षा मंत्रालय के सहयोग से दिल्ली में झांकी बनाई जाती है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sat Paul

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!