चंडीगढ़, जेएनएन। ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस पार्टी की पश्चिम बंगाल की आरामबाग सीट से उम्मीदवार सुजाता मंडल द्वारा अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों पर दिए गए बयान पर चंडीगढ़ भाजपा अध्यक्ष अरुण सूद ने प्रतिक्रिया दी है। सूद ने सुजाता मंडल के बयान को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा है। सूद ने कहा कि किसी भी दल के नेता द्वारा इस प्रकार के बयान को लेकर आखिर कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेता सोनिया गांधी और राहुल गांधी क्यों चुप हैं। आखिर क्यों नहीं उन्होंने इस प्रकार के विवादास्पद बयान की निंदा की। सूद ने आरोप लगाया है कि सुजाता मंडल द्वारा अनुसूचित जाति के लोगों पर की गई टिप्पणी पर सोनिया, राहुल और अन्य विपक्षी दलों की चुप्पी का मतलब ये ही है कि वे लोग भी सुजाता मंडल द्वारा दिए गए बयान से सहमत हैं।

गौरतलब है कि टीएमसी की प्रत्याशी सुजाता मंडल ने अनुसूचित जाति और जनजाति के लोगों को लेकर कहा कि अनुसूचित जाति के लोग स्वभाव से ही भिखारी होते हैं। ममता बनर्जी ने उनके लिए बहुत कुछ किया, लेकिन कुछ रुपयों के लिए वो भाजपा के पीछे जा रहे हैं। वे अपना वोट भाजपा को बेच रहे हैं। उनके इस बयान पर चंडीगढ़ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अरुण सूद ने कहा कि दरअसल सुजाता मंडल द्वारा जारी ये बयान से उनकी और उनके नेताओं की कुंठा मानसिकता का परिचय मिलता है और तो और कांग्रेस पार्टी से निकली टीएमसी और कभी कांग्रेस पार्टी की टिकट पर चुनाव लड़ने वाले ममता कांग्रेस पार्टी की मानसिकता को ही आगे बढ़ाने का काम कर रही है। कांग्रेस पार्टी ने दलितों और अन्य पिछड़े वर्गों के लोगों के साथ वोट बैंक की राजनीति ही की है। आज हालत ये हैं कि टीएमसी के नेता सरेआम तुष्टिकरण की राजनीति पर उतारू हो गए हैं और कांग्रेस पार्टी और अन्य प्रमुख दलों के नेता सुजाता मंडल के इस प्रकार के बयान पर कुछ भी बोलने से परहेज कर रहे हैं।

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने साफ कर दिया कि उनके लिए कोई भी समाज, वर्ग उनके लिए वोट बैंक नहीं है। हमारी पार्टी ने सदैव सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास की अवधारणा पर काम किया है और करते रहेंगे। यह बहुत ही दुखत है कि किसी विशेष समुदाय के लोगों पर इस प्रकार की घटिया बयानबाजी को लेकर तमाम विपक्षी दलों के नेताओं के मुंह में दही जम गया है।

उन्होंने कहा कि दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी के प्रतिनिधिमंडल ने भाजपा महासचिव दुष्यंत गौतम के नेतृत्व में सोमवार को अनुसूचित जाति आयोग का दरवाजा खटखटाया और एक ज्ञापन सौंपकर सुजाता मंडल खान के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। प्रतिनिधिमंडल में भाजपा सांसद सुनीता दुग्गल, हंसराज हंस और पार्टी के अनुसूचित जाति मोर्चे के अध्यक्ष लालसिंह आर्य भी शामिल थे। इस से पूर्व भी पार्टी के नेताओं ने चुनाव आयोग को भी शिकायत दी थी और कहा था कि सुजाता मंडल और तृणमूल कांग्रेस के नेतृत्व के खिलाफ चुनाव कानूनों, भारतीय दंड संहिता एवं अनुसूचित जाति एवं जनजाति (उत्पीड़न रोकथाम) अधिनियम, 1989 एवं आदर्श आचार संहिता के प्रावधानों के तहत जरूरी कार्रवाई की जाए।

यह भी पढ़ें : एडवाइजर परिदा ने किया ट्वीट, चंडीगढ़ में संक्रमण बढ़ा, लगाना पड़ सकता है लॉकडाउन

यह भी पढ़ें : चंडीगढ़ Axis Bank से 4 करोड़ रुपये चोरी करने वाले सिक्योरिटी गार्ड की फिल्मी कहानी, लव मैरिज की तो परिवार ने किया बे-दखल

चंडीगढ़ की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप