Move to Jagran APP

14 साल पहले पांच हजार रुपये से शुरू किया बिजनेस, आज 150 करोड़ का टर्नओवर

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से एमबीए कर वापस लौटे अजय ने बताया कि 14 साल पहले साल 2005 में उनके चाचा ने उनसे एविएशन सेक्टर में निवेश करने की सलाह दी थी।

By Edited By: Published: Sun, 24 Feb 2019 09:25 PM (IST)Updated: Mon, 25 Feb 2019 01:01 PM (IST)
14 साल पहले पांच हजार रुपये से शुरू किया बिजनेस, आज 150 करोड़ का टर्नओवर

चंडीगढ़, [विकास शर्मा]। जॉय राइड लेना किसी सपने के सच होने जैसा है, चौपर में जॉय राइड लेने वाले लोगों के चेहरे की खुशी से महसूस करता हूं कि यह पल उनके लिए कितना कीमती था। इस खुशी को देखकर ही मैं अपने बिजनेस की कामयाबी मानता हूं। यह कहना है ढिल्लन एविएशन प्राइवेट लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर अजयबीर सिंह का। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से एमबीए कर वापस लौटे अजय ने बताया कि 14 साल पहले साल 2005 में उनके चाचा ने उनसे एविएशन सेक्टर में निवेश करने की सलाह दी थी, यह आइडिया उन्हें बेहद पंसद आया। दिक्कत यह थी कि मेरे पास निवेश करने को बड़ी पूंजी नहीं थी और न ही कोई एविएशन सेक्टर का अनुभव, फिर भी मैंने इस सेक्टर में निवेश करने का मन बना लिया।

loksabha election banner

2005 में पांच हजार रुपये से ढिल्लन एविएशन प्राइवेट लिमिटेड की नींव रखी। आज कंपनी के पास तीन चौपर और एक जेट विमान है। कंपनी का सालाना 150 करोड़ रुपये का टर्नओवर है। अजयबीर फिलहाल चंडीगढ़ के सेक्टर-38 में रह रहे हैं और मूल रूप से वे पंजाब के रोपड़ जिले के गांव लालपुरा के रहने वाले हैं।

नक्सलियों से निपटने के लिए भी तैनात रहते हैं कंपनी के चौपर

कंपनी के प्रोजेक्ट हेड पीयूष माथुर ने बताया कि नक्सलियों से निपटने के लिए भी कंपनी का एक चौपर हमेशा सीआरपीएफ के साथ सुकमा में होता है। इसके अलावा हमने उत्तराखंड में आई बाढ़ के दौरान भी चौपर की सेवाएं देकर कई लोगों को जान बचाई थी। गेल और पावर ग्रिड प्रोजेक्ट्स को हम अपनी चौपर सेवाएं देते हैं। हमने ही चौपर मैरिज का नया ट्रेंड शुरू किया है, जोकि पंजाब और हरियाणा में काफी लोकप्रिय हो रहा है।

एविएशन सेक्टर को प्रमोट करे सरकार

अजयबीर सिंह ने कहा कि एविएशन सेक्टर में तेजी से ग्रोथ हो रही है, चंडीगढ़ एयरपोर्ट प्रबंधन की मानें, तो इसी साल एयरपोर्ट पर 100 से ज्यादा फ्लाइट का शेड्यूल हो जाएगा। हवाई यात्रियों की संख्या में भी तेजी से ग्रोथ हो रही है। ऐसे में सरकारों को चाहिए कि वह एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियरिंग (एएमआइ) के नए संस्थान खोले। इसके अलावा एयरपोर्ट पर भी चौपर पार्किंग की सुविधा मुहैया करवाए, ताकि लोग कम समय में पंजाब, हिमाचल व जम्मू-कश्मीर जा सकें। आज ऐसा वर्ग तैयार हो गया है, जोकि सुविधाओं के लिए पैसे खर्च करने को तैयार है।

युवा बड़े-बड़े सपने देखें, बड़ा सोचें

अजयबीर सिंह ने कहा कि आज सरकार ने युवाओं को अपना बिजनेस करने के लिए स्टार्टअप योजना चलाई है, ऐसे योजनाओं का युवाओं को लाभ उठाना चाहिए। युवा कोई बिजनेस शुरू भी करते हैं, तो उसके जल्द नतीजे चाहते हैं, ऐसा नहीं होता। धंधा जमने में समय लगता है, लोगों को अपने ऊपर भरोसा रखना चाहिए। युवाओं को चाहिए कि वह बड़े-बड़े सपने देखें, बड़ा सोचें। यकीनन जब वह स्थिर मन से काम करेंगे, तो अच्छे नतीजे सामने आएंगे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.