संवाद सूत्र, रामां मंडी: कोरोना दौरान बंद की गई यात्री ट्रेनों को रेलवे द्वारा दोबारा शुरू किया गया है, परंतु अब कम दूरी की यात्रा पर पहले से तीन गुना अधिक किराया वसूला जा रहा है, जिसकी सीधी मार गरीब और मध्यम वर्गीय लोगों पर पड़ रही है।

इस मामले वार्ड 12 से कांग्रेस पार्षद मनोज कुमार सींगों ने केंद्र सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि पिछले छह साल से नरेंद्र मोदी सरकार के गलत फैसलों ने गरीब और मध्यम वर्गीय परिवारों को तबाही के कगार पर लाकर खड़ा कर दिया है। कोरोना काल में बिना तैयारी लाकडाउन लगाया गया, परंतु जब बिहार में चुनाव होने का समय आया तो केंद्र सरकार को कोरोना नजर नहीं आया। जो रेलगाडि़यां चलाई जा रही हैं उन सभी ट्रेनों को स्पेशल बताकर रेलवे यात्रियों से तीन गुना अधिक किराया वसूल कर रहा है जोकि सरासर लूट है। उन्होंने कहा कि पहले जब पैसेंजर ट्रेन में बठिडा तक का किराया दस रुपये लगता था अब रेलवे द्वारा पैसेंजर ट्रेन का किराया तीस रुपये वसूला जा रहा है। उन्होंने केंद्र सरकार से मांग करते हुए कहा कि यात्री ट्रेनों को दोबारा शुरू कर पहले की तरह किराया वसूला जाए। वृद्व महिला के इलाज के लिए रक्तदान किया साथी वेलफेयर सोसायटी के अध्यक्ष जतिदर गोगिया ने बताया कि निजी अस्पताल में भर्ती 70 वर्षीय वृद्व मरीज बलवीर कौर के घुटनों को बदलते समय आप्रेशन के लिए रक्त की जरूरत पड़ने पर सोसायटी सदस्य नरेश गोयल ने रक्तदान किया। इस मौके सोसायटी सदस्य अमनदीप सिंह भी उपस्थित थे। स्वजनों ने सोसायटी का धन्यवाद किया।

Edited By: Jagran