Move to Jagran APP

Heat Wave Alert: भीषण गर्मी से झुलसा पंजाब... बाजारों में पसरा सन्नाटा, 44 डिग्री पारा पहुंचने से स्‍कूलों का बदला समय

पंजाब में हीट वेव (Heat Wave Alert) का अलर्ट जारी कर दिया गया है। 44 डिग्री पारा पहुंचने से बाजारों में सन्नाटा पसर गया है। मई के तीसरे सप्ताह में गर्मी ने अपना प्रचंड असर दिखाना शुरू कर दिया है। पिछले तीन दिनों से तापमान में एकाएक हुई बढ़ोतरी के कारण जनजीवन बेहाल हो गया है। पंजाब सरकार ने स्‍कूलों का समय भी बदल दिया है।

By Hemant Kumar Edited By: Himani Sharma Mon, 20 May 2024 11:48 AM (IST)
Heat Wave Alert: तापमान 44 होने से शहर के बाजारों में पसरा सन्नाटा

हेमंत राजू, बरनाला। सेहत विभाग ने हीट वेव (Heat Wave Alert) का अलर्ट किया हैं। सोमवार को बरनाला का तापमान 44 होने से शहर के तीनों प्रमुख बाजारों सदर बाजार,फरवाही बाजार, हंडिआया बाजार आदि में सन्नाटा पसरा रहा।

हालांकि ये बाजार हमेशा ही गुलजार रहे है परंतु गर्मी ने लोगों को घरों में ही रहने के लिए मजबूर कर दिया हैं। बढ़ते तापमान के कारण पंजाब सरकार ने भी स्कूलों के टाइम में बदलाव करके सुबह सात बजे से दोपहर बारह बजे तक कर दिया हैं।

गर्मी ने दिखाया प्रचंड असर

मई के तीसरे सप्ताह में गर्मी ने अपना प्रचंड असर दिखाना शुरू कर दिया है। पिछले तीन दिनों से तापमान में एकाएक हुई बढ़ोतरी के कारण जनजीवन बेहाल हो गया है। सोमवार को तापमान 44 डिग्री तक पहुंच गया, जिस कारण झुलसाने वाली गर्मी के कारण बाजारों में सुबह 12 बजे के बाद से ही सन्नाटा छा गया।

गर्मी के कारण मौसमी बीमारियों का प्रकोप एकदम बढ़ना शुरू हो गया है और निजी अस्पतालों के अलावा सिविल अस्पताल में मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है।

सेहत विभाग ने लोगों से की ये अपील

सेहत विभाग ने लोगों से गर्मी से बचने के लिए सावधानी बरतने की अपील की है। सिविल अस्पताल बरनाला के बाल रोग विशेषज्ञ डाक्टर अंकुश जिंदल व डाक्टर प्रमोद जैन बच्चों का अस्पताल बरनाला के बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर रजनी जैन ने हीट वेव को लेकर दी जानकारी।

यह भी पढ़ें: Heat Wave Alert: प्रचंड गर्मी की चपेट में उत्तर भारत, दिल्ली-यूपी में पारा 47 डिग्री पार; पढ़िए अपने शहर का हाल

उन्‍होंने कहा कि गर्म हवाएं हमारी प्यास को बढ़ाती हैं और हमारे शरीर, खासकर आंखों और त्वचा को जला देती हैं, जब अधिक गर्मी होती है तो हमारा शरीर पसीने के रूप में गर्मी छोड़ता है और तापमान को नियंत्रण में रखता है, जिसके कारण शरीर में पानी की कमी हो जाती है।

हीट स्‍ट्रोक से हो सकता है खतरनाक फ्लू

एक निश्चित सीमा के बाद हमारे शरीर की यह प्रणाली काम करना बंद कर देती है और शरीर बाहरी तापमान के अनुसार गर्म होने लगता है, जिसे हीट स्ट्रोक या लू लगना कहते हैं। आमतौर पर लोग इसे हल्के में लेते हैं और मानते हैं कि उन्हें फ्लू नहीं हो सकता, लेकिन एक रिपोर्ट के मुताबिक फ्लू (हीट स्ट्रोक) होना बेहद खतरनाक बीमारी है।

यह भी पढ़ें: Heat Wave Alert: गर्मी रोज तोड़ रही रिकॉर्ड... 'लू' के थपेड़ों से लोगों को राहत नहीं, आया मौसम विभाग का ताजा अलर्ट

बच्चों और बुजुर्गों, गर्भवती महिलाओं, मोटे लोगों, हृदय रोगियों, शारीरिक रूप से कमजोर लोगों और शरीर के रसायन या रक्त वाहिकाओं को प्रभावित करने वाली कुछ दवाएं लेने वाले लोगों में हीटस्ट्रोक का खतरा अधिक होता है।