जागरण संवाददाता, अमृतसर: दिल्ली-अमृतसर-कटड़ा एक्सप्रेस वे को मंजूरी मिलने के बाद अब जिले में रिग रोड हाई-वे बाइपास बनाए जाने के प्रोजेक्ट को भी भारत सरकार ने मंजूरी दे दी है। इसकी जानकारी सांसद गुरजीत सिंह औजला ने दी।

औजला ने बताया कि जब से वह सांसद बने हैं, लगातार अमृतसर में सड़कों का जाल बिछाए जाने संबंधी मांग कर रहे थे ताकि यहां पर टूरिस्ट बढ़ें और व्यापार भी बढ़ सके। इससे यहां के युवाओं को रोजगार मिल सकेगा। उन्होंने संसद में आवाज उठाई थी कि भारत माला प्रोजेक्ट के तहत अमृतसर-रमदास-डेरा बाबा नानक को आपस में जोड़ा जाए। यहां पर कम से फोर लेन हाईवे बनाया जाए। इसे कि सरकार ने मंजूर कर लिया है। करीब 39 किलोमीटर तक यह फोर लेन हाईवे 510 करोड़ रुपये से तैयार होगा। इसी तरह शहर के बाहर एक रिग रोड बनाए जाने की मांग थी जोकि गांव राजेवाल से शुरू होकर, चब्बा, भकना, खासा से होता हुआ श्री गुरु रामदास इंटरनेश्नल एयरपोर्ट के पीछे से हर्षा छीना से निकल कर अजनाला से जुड़ेगा। यह हाईवे कुल 51 किलोमीटर लंबा होगा और इस पर 1150 करोड़ रुपये खर्च आएगा। इसी तरह एक्सप्रेस-वे के साथ ही रिग रोड का दूसरा हिस्सा वेरका, मुद्दल से होता हुआ हर्षा छीना को टच कर अजनाला से मिलेगा। इसके अलावा फतेहपुर राजपूतां, मेहता, घुमाण के ऊपर से बाइपास निकालने का प्रोजेक्ट पहले से चल रहा था। मगर कई कारणो से रुका हुआ था। उस संबंधी आवाज उठाई गई और फिर से प्रोजेक्ट को शुरू करवा कर मंजूरी दिलवाई है। यह बाइपास 45.33 किलोमीटर लंबा होगा और इसकी अनुमानित लागत 750 करोड़ रुपये है।

अजनाला रोज पर जल्द एक्वायर की जाएगी जमीन

औजला ने कहा कि अजनाला रोड को अभी फोर लेन होने में समय लगना है, क्योंकि पहले जमीन एक्वायर होनी है। जमीनो के नंबर भी जारी हो गए हैं। इस पूरे काम में छह महीने से एक साल का समय लग सकता है। ऐसे में अजनाला रोड की मंदी हालत को फिलहाल दुरुस्त करने के लिए बजट पास करवाया गया है ताकि सड़क की हालत सुधारी जा सके। इस पर कुछ ही दिनों में काम भी शुरू हो जाएगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!