अमृतसर,जेएनएन। पंजाब के पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू बिहार पुलिस टीम के साथ आंख मिचौली खेल रहे हैं। समन लेकर आई पुलिस टीम सात दिनों से अमृतसर में डेरा डाले हुए है और सिद्धू की काेठी के बाहर दिन भर बैठी रहती है, लेकिन नहीं मिल रहे हैं और न ही समन रिसीव कर रहे हैं। बिहार के कटिहार जिले से आई पुलिस सोमवार को दिन भर पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की कोठी के बाहर पेड़ के नीचे बैठी रही, लेकिन सिद्धू नहीं मिले।

एक सप्ताह से डेरा डाले दोनों एसआइ बोले, नहीं मिला कोई रिस्पांस

कटिहार से आए सब इंस्पेक्टर जनार्दन राम और सब इंस्पेक्टर जावेद अहमद ने बताया कि पूर्व मंत्री के पीए ने उन्हें कोई रिस्पांस नहीं दिया। यह भी नहीं बताया कि सिद्धू कब कोठी पहुंचेंगे, जबकि रविवार को कहा था कि सोमवार को मिल सकते हैैं।

एक सप्ताह से डेरा डाले दोनों एसआइ बोले, नहीं मिला कोई रिस्पांस

दोनों सब इंस्पेक्टर ने कहा कि मंत्री और उनके आसपास के लोगों के इस तरह के रवैये से वे काफी हताश हैं। जब उनसे पूछा गया कि सिद्धू नहीं मिल रहे हैैं तो वे कब तक यहां रुके रहेंगे तो उन्होंने कहा कि उन्हें तो आइजी विनोद कुमार ने समन की कॉपी रिसीव करवाने के बाद लौटने को कहा है। इसीलिए वे एक सप्ताह से यहां डेरा डाले हुए हैैं।

सिद्धू की कोठी के बाहर सुरक्षा कर्मी तैनात हैं। उनके लिए ठंडे पानी का वाटर कूलर भी रखा जाता है। जैसे ही बिहार पुलिस के दोनों अफसर उनके पास जाकर बैठे तो सुरक्षा कर्मी उठकर कोठी के अंदर चले गए। बाहर रखा हुआ वाटर कूलर भी अपने साथ ले गए। बिहार पुलिस के दोनों अफसर सुरक्षा कर्मियों से सिद्धू के आने के बारे में बार-बार पूछते थे, संभवत: इसीलिए सुरक्षा कर्मी अंदर चले गए।

यह है मामला

बीते लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी की तरफ से कटिहार जिले में चुनावी सभा के दौरान सिद्धू ने आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया था। मौके पर मौजूद मजिस्ट्रेट ने इस मामले में वरसोई थाने में शिकायत दी थी। इसके बाद पुलिस ने सिद्धू के खिलाफ मामला दर्ज किया था।   दिसंबर 2019 में भी बिहार पुलिस सिद्धू को समन देने पहुंची थी लेकिन वह नहीं मिले थे।

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!