अमृतसर, जागरण संवाददाता: श्री दुर्ग्याणा मंदिर के पास झांसा देकर महिलाओं को अपना शिकार बनाकर ठगी करने वाला गिरोह सक्रिय होने लगा है। शनिवार की शाम बाबा के भेष में एक व्यक्ति और उसकी महिला साथी मधु गुप्ता को झांसा देकर उससे सोने की बालियां लेकर फरार हो गए।

घटना के समय मधु को किसी तरह की सुधबुध नहीं थी। वह बाबा के भेष में आरोपित के कहे मुताबिक अपनी कानों की बालियां उतारकर उसके हाथ में थमाती रही। आरोपितों के फरार होते ही मधु को पता चला तो उसने शोर मचाया।

एएसआइ तरसेम सिंह ने बताया कि मामले की जांच करवाई जा रही है। आरोपितों की पहचान के लिए इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरे भी खंगाले जा रहे हैं। मधु गुप्ता ने डी डिवीजन थाने की पुलिस को बताया कि वह हाथी गेट के पास रहती है।

शनिवार की शाम वह किसी काम से रेलवे स्टेशन के पास गई थी। रास्ते में उसे सरकारी स्कूल के पास एक बाबा के भेष में व्यक्ति मिला और उसने मधु को रोक लिया। आरोपित उसे आशीर्वाद देने लगा। इस बीच एक महिला वहां पहुंची और बाबा को बहुत करनी वाले बाबा बताकर उनका बखान करने लगी। देखते ही देखते मधु से आरोपितों ने कानों में पहनी सोने की बालियां मांग ली।

मधु ने पुलिस को बताया कि वह बेसुध हो गई और चुपचाप उनके कहने पर अपने कान की बालियां उतार कर नौसरबाज के हवाले कर दीं। बालियां लेने के बाद दोनों आरोपित वहां से फरार हो गए। लगभग 10 मिनट बाद मधु को घटना के बारे में पता चला तो उसने अपने शोर मचाया। लेकिन तब तक वह भाग चुके थे।

Edited By: MOHAMMAD AQIB KHAN

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट