अमृतसर, जेएनएन/एएनआइ। 65 साल की महारष्‍ट्र की महिला पाकिस्‍तान की जेल में 18 साल काटने के बाद आज भारत लौटीं। 65 वर्षीय हसीना बेगम अटारी वाघा बार्डर से होकर भारत पहुंचीं। हसीना बेगम अटारी बार्डर से होकर अमृतसर पहुंची। पाकिस्‍तान जाने के बाद उनका पासपोर्ट गुम हो गया था। वह वहां अपने पति के रिश्‍तेदारों से मिलने गई थीं।

 हसीना बेगम भारत के महाराष्ट्र के औरंगाबाद की रहने वाली हैं। उनकाे 18 साल बाद पाकिस्तान से रिहाई मिली। वह अपने पति के रिश्‍तेदारों से मिलने पाकिस्तान गई थीं। इसी दौरान उनका पासपोर्ट गुम हो गया था और पाकिस्‍तान की पुलिस ने पासपोर्ट नहीं होने की वजह से उनकाे गिरफ्तार कर लिया था। उसके बाद उनको जेल में बंद कर दिया गया था। अब उनको पाकिस्‍तान ने रिहा किया है।

वह वाघा अटारी बार्डर होकर भारत पहुंचीं। यहां पहुंचने पर उनके पति और महाराष्‍ट्र के पुलिस अधिका‍रियों ने स्‍वागत किया। भारत वापस आने के बाद वह भावुक हो गईं। उनको अन्‍य औपचारिकता पूरी करने के बाद महाराष्‍ट्र में उनके घर भेजने की तैयारी की जा रही है।

भारत की सीमा में आने के बाद हसीना बेगम बेहद खुश थीं। उन्‍होंने कहा, मुझे पाकिस्‍तान में बहुत परेशानी झेलनी पड़ी। अपने देश वापस आकर बहुत शांति व सुकून महसूस कर रही हूं। यहां आकर लगता है कि जन्‍नत में हूं। पाकिस्‍तान में मुझे जबरन जेल में डाला गया था।

उन्‍होंने अपनी रिहाई में भूमिका के लिए महाराष्‍ट्र पुलिस का धन्‍यवाद किया। हसीना बेगम के एक रिश्‍तेदार ख्‍वाजा जेनुद्दीन चिश्‍ती ने कहा कि हसीना की पाकिस्‍तान से रिहाई महाराष्‍ट्र पुलिस के कारण ही हो पाई। पूरी परिवार इसके लिए महाराष्‍ट्र पुलिस का शुक्रगुजार है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021