लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के साथ मिलकर विधानसभा और बहुजन समाज पार्टी के साथ लोकसभा चुनाव लडऩे वाली समाजवादी पार्टी अब एकला चलो की राह पर है। पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश को भरोसा है कि उनके काम की बदौलत समाजवादी पार्टी 2022 में उत्तर प्रदेश में सरकार बनाएगी।

अखिलेश यादव लखनऊ में एक कार्यक्रम में शिरकत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में 2022 में मुझे अपनी पार्टी की सरकार बनाने के लिए राम और हनुमान पकडऩे की जरूरत नहीं, काम को पकड़ूंगा। अपने काम काम पर वोट मांगूंगा। अखिलेश यादव ने यह भी कहा कि इस बार साइकिल और सभी जाति धर्म को मिलाकर चुनाव जीतेंगे। अखिलेश यादव ने कहा कि दिल्ली की जनता को बधाई देना चाहता हूं कि जिन्होंने काम पर वोट किया, भाषण और गोली पर वोट नहीं किया। अब ऐसा ही काम उत्तर प्रदेश की जनता भी करेगी। काम बोलता है इसका नजारा 2022 में देखने को मिलेगा। दिल्ली की जनता ने काम पर बोला है तो उत्तर प्रदेश भी 2022 में बोलेगा।

अखिलेश यादव ने कहा कि हम काम पर बात करना चाहते हैं, बात इस पर होनी चाहिए कि सबसे पहले हाईवे कौन बना सकता है। लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर कोई भी चलेगा तो समाजवादी पार्टी को वोट करेगा। उन्होंने कहा कि लखनऊ में इन्वेस्टर सम्मिट का अब तक कोई फायदा नहीं हुआ। इन्वेस्टमेंट कहां है। यहां तो कागज पर इन्वेस्टमेंट हैं, मगर जमीन पर कहां है। प्रदेश में इतनी बड़ी इन्वेस्टर समिट हुई, प्रधानमंत्री जी आए, राष्ट्रपति जी आए लेकिन कितना विकास हुआ यह तो कहीं दिख नहीं रहा। कहां इन्वेस्टमेंट हुए। एमओयू तो कोई भी किसी के भी साथ कर सकते हैं। अखिलेश यादव ने कहा कि इन्वेस्टर समिट में सबसे ज्यादा एमओयू सोलर पर हुए, मगर अभी तक एक भी सोलर प्लांट नहीं लगे।

कन्नौज में जयश्री राम का नारा लगने पर नाराजगी जताने के बारे में अखिलेश यादव ने कहा कि मैं युवक के जयश्री राम का नारा लगाने पर नाराज नहीं था। वह तो रोजगार मांग रहा था, मैंने उसे पिटने से बचाया। मैंने कहा कि यहां कहां आए हो रोजगार मांगने। प्रदेश सरकार से मांगों।

अखिलेश यादव आजमगढ़ में अपनी गुमशुदगी का पोस्टर लगने पर कांग्रेस पर भड़के। उन्होंने कहा कि पोस्टर लगाना कांग्रेसियों का पुराना काम है। संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ ने जाने के आरोप पर अखिलेश यादव ने कहा कि मेरी पार्टी वहां लोगों के साथ खड़ी है। लापता के पोस्टर लगाने पर अखिलेश ने कहा कि कांग्रेसियों का पुराना काम है।

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा के पास ऐसा हुनर है कि वह पढ़े-लिखे लोगों को भी भ्रम में डाल देती है। एचसीएल मैं लेकर आया, लखनऊ में मेट्रो लेकर मैं आया। सीएम योगी आदित्यनाथ के पूर्वांचल में एक्सप्रेस वे का क्रेडिट लेने पर अखिलेश ने कहा कि पूर्वांचल में एक्सप्रेस वे लिए जमीन समाजवादी पार्टी के समय ली गई। मेरे पास कागज है कि 2016 में रजिस्ट्री हुई और उस वक्त हमारी सरकार थी। हम लोगों को समझाते हैं इन सबके बारे में मगर भाजपा बहका देती है। अखिलेश यादव ने कहा कि हम और हमारी पार्टी एनआरसी, सीएएम और एनपीआर के विरोध में हैं। समाजवादी पार्टी के लोग फॉर्म नहीं भरेंगे। देश में भाजपा जाति की जनगणना नहीं कर रही है, यही काम कांग्रेस भी करती थी। देश में सभी की गिनती हो और सबको हक मिल जाए। समाज को बांटने वाले किसी भी कानून के पक्ष में नहीं। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि जातिगत जनगणना से धर्म की राजनीति खत्म हो जाएगी। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप