चंडीगढ़/पंचकूला, जेएनएन/एएनआइ। पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्‍ता के करतारपुर कॉरिडोर और वहां की यात्रा के बारे में कथित बयान से पंजाब की सियासत गर्मा गया है। इस कथित बयान का हवाला देते हुए शिरोमणि अकाली दल (शिअद) और आम आदमी पार्टी (आप) ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। शिअद ने आरोप लगाया है कि डीजीपी दिनकर गुप्‍ता में कहा है कि करतारपुर कॉरिडोर से आतंकी खतरा है। वहां गया यात्री छह घंटे में बम बनाने की ट्रेनिंग लेकर आतंकी बनकर लौट सकता है। शिअद और आप ने कहा है कि डीजीपी इस पर माफी मांगे अन्‍यथा विधानसभा को चलने नहीं दिया जाएगा। मामला गर्माने के बाद डीजीपी दिनकर गुप्‍ता ने सफाई दी है और कहा है कि उन्‍होंने ऐसा कुछ नहीं बोला है। उनकी बातों का गलत मतलब निेकाला गया है।

दिनकर गुप्‍ता ने दी सफाई, कहा- बयान का गलत मतलब निकाला गया

शिअद के वरिष्‍ठ नेता व पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मतीठिया ने कहा कि डीजीपी दिनकर गुप्‍ता ने कथित तौर पर कहा कि श्री करतापुर साहिब यात्रा से आतंकी खतरा है और वहां गया श्रद्धालु छह घंटे बाद आतंकी बन कर लौट सकता है। डीजीपी के इस तरह के बयान को कतई स्‍वीकार नहीं किया जा सकता। 

 शिअद और आप ने कहा- डीजीपी ने माफी न मांगी तो विधानसभा नहीं चलने देंगे

इसके बाद मामला गर्माने पर डीजीपी दिनकर गुप्‍ता ने अपनी सफाई दी है। उन्‍होंने कहा, मेरे बयान काे गलत अर्थ में लिया गया है। मैंने पासपोर्ट खत्म करने के सवाल के बारे में कहा था कि इस तरह तो हमारे पास कोई सुबूत ही नहीं होगा कि करतारपुर जाने वाला व्यक्ति कौन है? शिअद नेता मजीठिया ने कहा कि एक समाचार पत्र में छपे समाचार के अनुसार डीजीपी दिनकर गुप्ता ने करतारपुर कॉरिडोर को बताया खतरा। उन्होंने कहा है कि पाकिस्तान गए श्रद्धालु वहां छह घंटे रहते हैं। इतनी देर में उन्हें बम बनाने की ट्रेनिंग दी जा सकती है, सुबह गया व्यक्ति शाम तक आतंकवादी बनाया जा सकता है।

ब्रिकम सिंह मजीठिया ने यहां यहां पत्रकारों से बताचीत में कहा कि एक समाचार पत्र में डीजीपी का छपा बयान आपत्तिजनक और आहत करने वाला है। डीजीपी दिनकर गुप्‍ता ने करतारपुर साहिब के मामले को लेकर जो कुछ कहा है उस पर माफी मांगे। उन्‍होंने माफी नहीं मांगी तो शिरोमणि अकाली दल 24 फरवरी को पंजाब विधानसभा नहीं चलने देगा।

मजीठिया ने कहा कि डीजीपी के इस तरह के बयान पर पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और कांग्रेस की कार्यवाहक अध्‍यक्ष सोनिया गांधी को स्पष्टीकरण देना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस तरह की भाषा और शब्द गांधी परिवार के हैं। इस तरह का बयान इंदिरा गांधी की विचारधारा को आगे बढ़ाना है जिसने हर सिख को आतंकवादी के रूप में चित्रित किया। सिखाें को बदनाम करने की गहरी साजिश है और यह शब्‍द गांधी परिवार के हैं। शिअद इस तरह के बयान को बर्दाश्‍त नहीं करेगा।

 मजीठिया ने कहा कि डीजीपी दिनकर गुप्‍ता ने कथित रूप से एक कार्यक्रम में करतारपुर कॉरिडोर को पंजाब की सुरक्षा को खतरा बताया। मजीठिया के अनुसार, डीजीपी ने कथित तौर पर कहा है कि पाकिस्तान गए श्रद्धालु वहां छह घंटे रहते हैं। इतनी देर में उन्हें बम बनाने की ट्रेनिंग दी जा सकती है। सुबह गया व्यक्ति शाम तक आतंकवादी बनाया जा सकता है। बिक्रम मजीठिया ने कहा कि यह टिप्पणी अत्यधिक अस्वीकार्य है।

इसके साथ ही कुलतार सिंह संधवां और आप विधायक दल के हरपाल सिंह चीमा ने भी डीजीपी दिनकर गुप्‍ता पर निशाना साधा है। उन्‍होंने कहा कि डीजीपी इस पर तुरंत माफी मांगें, अन्‍यथा सोमवार को पंजाब विधानसभा की कार्यवाही चलने नहीं देंगे। आम आदमी पार्टी के विधायकों ने कहा कि क्या पूर्व प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री भी वहां से आतंकवादी बनकर लौटे हैं। यह बयान देश की अखंडता को तोडऩे वाला है।

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


यह भी पढें: पंजाब सरकार का बड़ा कदम, एससी-बीसी क्रीमीलेयर को मिल रही मुफ्त बिजली बंद



यह भी पढ़ें: पंजाब की सियासत में सिद्धू पर फिर सस्‍पेंस, बड़ा सवाल- क्‍या आप में जाने की तैयार हो रही जमीन

Edited By: Sunil Kumar Jha

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!