नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने नसीरुद्दीन शाह के बुलंदशहर की घटना पर बयान को प्रायोजित करार दिया है। विहिप का कहना है कि राजनीतिक उद्देश्यों को लेकर इसके पहले भी अवार्ड वापसी से लेकर असहिष्णुता का माहौल खड़ा किया गया था। 2019 के चुनाव के पहले नसीरुद्दीन शाह का बयान इसी की शुरूआत है। विहिप ने नसीरुद्दीन शाह के बयान को सांप्रदायिक व देश के माहौल को बिगाड़ने वाला करार दिया है।

विहिप के संयुक्त महामंत्री सुरेंद्र जैन ने कहा कि कथित धर्मनिरपेक्षवादी केवल चुने हुए मुद्दों पर ही इस तरह की बयानबाजी करते हैं। लेकिन ऐसे ही सैंकड़ों मुद्दों पर चुप्पी साध लेते हैं।

जैन ने कहा कि आजाद मैदान में हिंसा लेकर केरल और कश्मीर में हिंदुओं के साथ हिंसा की कई घटनाएं हैं। लेकिन उस समय इन लोगों को कोई गुस्सा नहीं आया। 2019 के लोकसभा चुनाव के पहले इस तरह के कई और बयान आ सकते हैं। वैसे विहिप ने उम्मीद जताई कि देश की जनता राजनीति से प्रेरित ऐसे बयानों को तवज्जो नहीं देगी और देश में शांतिपूर्ण माहौल को बनाए रखेगी। विहिप ने साफ किया कि वह किसी भी तरह की हिंसा के पक्ष में नहीं है। लेकिन गौरक्षा के संबंध में कोई भी टिप्पणी करने से पहले जांच के परिणाम की प्रतीक्षा करनी चाहिए।

Posted By: Manish Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप