गोरखपुर, जेएनएन। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में गोरखपुर में भीड़ उग्र हो गई। जुलूस के दौरान मदीना मस्जिद तिराहे पर विवाद हो गया। नखास और रेती चौके के बीच भीड़ ने पथराव किया। इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े। रेती-नखास रोड पर आवागमन बंद। अधिकांश क्षेत्रों में दुकानें बंद करा दी गई हैं।

पुलिस छावनी में तब्‍दील हुआ पूरा क्षेत्र

कोतवाली इलाके में नखास चौराहे पर उग्र प्रदर्शन शुरू कर दिया। रोकने पर पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। भीड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े। पूरा इलाका पुलिस छावनी में तब्दील है। जुमे की नमाज के बाद जामा मस्जिद से कुछ युवा नारेबाजी करते हुए निकले थे। पुलिस उन्हें रोकने की कोशिश कर रही थी। इसी बीच नखास चौराहे पर भीड़ एकत्र हो गई और सरकार विरोधी नारे लगाना शुरू कर दिया।

पुलिस से उलझे लोग

समाझने की कोशिश करने पर उपद्रवी पुलिस से उलझने लगे। सख्ती से पेश आने पर पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। स्थिति पर नियंत्रण पाने के लिए पुलिस को खासी मशक्‍कत करनी पड़ी। स्थिति बेहद तनावपूर्ण बनी हुई है। नाकाबंदी कर पुलिस संवेदनशील इलाकों मे कॉम्बिंग कर रही है।

भीड़ ने पीटा

इससे पहले मदीना मस्जिद के पास भीड़ ने खुद को नागरिक सुरक्षा दल का सदस्य बताने वाले दो लोगों को पीट दिया था। भीड़ का आरोप है कि दोनों लोग बाहरी हैं और एक वर्ग को बदनाम करने के लिए दंगा भड़काने की साजिश के तहत काम कर रहे हैं।

 

Edited By: Pradeep Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट