मुंबई, एजेंसी। उद्धव सरकार के खिलाफ बगावत करने वाले विधायकों की भारी सुरक्षा के बीच मुंबई वापसी हुई। 12 दिन बाद तीन राज्यों की यात्रा करने के बाद शनिवार देर शाम मुंबई लौटे विधायकों को भारी सुरक्षा के बीच कफ परेड स्थित होटल ताज प्रेसिडेंट ले जाया गया। ये विधायक रविवार यानी आज स्पीकर के चुनाव में हिस्सा लेंगे। उद्धव सरकार से बगावत करने वाले 50 में से 39 विधायक शिवसेना के हैं। इस बीच, बागी गुट के प्रवक्ता दीप केसरकर ने कहा है कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को शिवसेना से निकाले जाने का जवाब कानूनी रूप से दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि वे लोग उद्धव ठाकरे के खिलाफ कुछ नहीं बोलेंगे, लेकिन उनके पत्र का जवाब कानूनी रूप से दिया जाएगा।

सभी बागी विधायक मुख्यमंत्री के साथ मुंबई के होटल ताज प्रेसीडेंसी मौजूद हैं। यहां भाजपा के विधायकों के साथ उनकी संयुक्त बैठक हुई, इसमें आगे की रणनीति तैयार की गई। नई सरकार में विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव एवं शिंदे सरकार का बहुमत सिद्ध करने के लिए तीन और चार जुलाई को विशेष अधिवेशन बुलाया गया है। पहले दिन ही विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव होना है। इसके लिए भाजपा की ओर से शुक्रवार को ही राहुल नार्वेकर ने और शिवसेना की ओर से शनिवार को राजन साल्वी ने अध्यक्ष पद के लिए नामांकन भर दिया है। लेकिन इस चुनाव का सबसे रोचक प्रश्न यह उभरकर आ रहा है कि इसमें उद्धव ठाकरे की शिवसेना और एकनाथ शिंदे की शिवसेना में से किसका व्हिप प्रभावी होगा।

शिवसेना ने विधायकों को लिए जारी किया व्हिप

महाराष्ट्र में रविवार को विधानसभा स्पीकर के लिए चुनाव होगा। शिवसेना के राजन साल्वी ने स्पीकर पद के लिए नामांकन दाखिल किया है। वहीं, महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष के चुनाव के लिए शिवसेना ने व्हिप जारी किया है।

व्हिप चीफ सुनील प्रभु ने शिवसेना के विधायकों को 3 और 4 जुलाई को विधानसभा में हाजिर रहने को कहा है। कांग्रेस और एनसीपी ने भी अपने विधायकों को विधानसभा में उपस्थित होने को कहा है।

Edited By: Sanjeev Tiwari