Move to Jagran APP

PM Modi Cabinet 2024: कामकाज संभालते ही मोर्चे पर जुटे मोदी 3.0 के मंत्री, सरकार ने बनाई कूटनीति को नई धार देने वाली रणनीति

मंत्रालयों के बंटवारे के अगले ही दिन मोदी 3.0 के मंत्री मोर्चे पर जुट गए हैं। अधिकांश मंत्रियों ने अपने मंत्रालयों का कार्यभार संभाल लिया है।राजनाथ सिंह निर्मला सीतारमण धर्मेंद्र प्रधान नितिन गडकरी जैसे मंत्री बुधवार या गुरूवार को कार्यभार संभालेंगे। लगातार दूसरी बार गृह मंत्रालय का कार्यभार संभालने के बाद अमित शाह ने कहा कि गृहमंत्रालय देश और देशवासियों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध होकर निरंतर काम करता रहेगा।

By Jagran News Edited By: Nidhi Avinash Published: Tue, 11 Jun 2024 08:17 PM (IST)Updated: Tue, 11 Jun 2024 08:27 PM (IST)
कामकाज संभालते ही मोर्चे पर जुटे मोदी 3.0 के मंत्री (Image: Jagran)

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। मंत्रालयों के बंटवारे के अगले ही दिन मोदी 3.0 के मंत्री मोर्चे पर जुट गए हैं। भाजपा और सहयोगी दलों के अधिकांश मंत्रियों ने अपने-अपने मंत्रालयों का कार्यभार संभाल लिया है। अमित शाह, एस जयशंकर, अश्विनी वैष्णव, ज्योतिरादित्य सिंधिया, जेपी नड्डा समेत सभी मंत्रियों ने अपना-अपना कार्यभार संभालते हुए मोदी सरकार की 10 साल की नीतियों की निरंतरता को बनाए रखने पर प्रतिबद्धता जताई।

यह 4 नेता बुधवार को संभालेंगे कार्यभार

राजनाथ सिंह, निर्मला सीतारमण, धर्मेंद्र प्रधान, नितिन गडकरी जैसे कुछ मंत्री बुधवार या गुरूवार को कार्यभार संभालेंगे। लगातार दूसरी बार गृह मंत्रालय का कार्यभार संभालने के बाद अमित शाह ने कहा कि गृहमंत्रालय देश और देशवासियों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध होकर निरंतर काम करता रहेगा। उन्होंने आश्वस्त किया कि मोदी 3.0 में देश की सुरक्षा नीतियों व प्रयासों के नई ऊंचाई मिलेगी और आतंकवाद व नक्सलवाद के खिलाफ देश एक मजबूत शक्ति बनकर उभरेगा।

वर्क मोड पर अमित शाह समेत यह मंत्री

कार्यभार संभालने के पहले शाह ने राष्ट्रीय पुलिस स्मारक पर शहीद पुलिसकर्मियों को श्रद्धासुमन अर्पित किये। साथ ही उन्होंने सहकारिता मंत्रालय का कार्यभार भी संभाल लिया। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में पहली बार सहकारिता मंत्रालय का गठन किया गया था। पांच साल के अंतराल के बाद स्वास्थ्य मंत्रालय पहुंचे जेपी नड्डा ने कार्यभार संभालने के बाद सभी वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर आयुष्मान भारत, राष्ट्रीय टीकाकरण अभियान जैसे मोदी सरकार के प्राथमिकता वाले स्कीमों की समीक्षा की।

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में विदेश मंत्री बनने के बाद भारत की कूटनीति को नई धार देने वाले एस जयशंकर ने दूसरी बार विदेश मंत्रालय का कार्यभार संभालने के बाद पड़ोसी देशों के संबंधों को और मजबूत करने को अपनी प्राथमिकता बताया। इसी तरह से अश्विनी वैष्णव ने रेल और सूचना प्रसारण दोनों मंत्रालयों का कार्यभार संभाल लिया।

इन दो नेताओं ने भी संभाला अपना कार्यभार

अपने पहले कार्यकाल में अश्विनी वैष्णव ने रेलवे के आधुनिकरण को नई दिशा दी थी। दूसरी बार पर्यावरण मंत्रालय का कार्यभार संभालते हुए भूपेंद्र यादव ने पर्यावरण संरक्षण को लेकर प्रधानमंत्री मोदी की प्राथमिकता को आगे बढ़ाने का आश्वासन दिया। मध्यप्रदेश में दो दशक तक मुख्यमंत्री रहने के बाद केंद्र में कृषि और ग्रामीण विकास मंत्रालय का कार्यभार संभालने के बाद शिवराज सिंह चौहान ने किसान कल्याण को अपनी प्राथमिकता बताया। ध्यान देने की बात है कि अपने तीसरे कार्यकाल की शुरूआत किसान सम्मान निधि की राशि जारी कर प्रधानमंत्री मोदी ने साफ कर दिया है कि कृषि और किसान सरकार के लिए काफी अहम है।

महिला और बाल विकास विभाग की कार्यभार संभालने के बाद अन्नपूर्णा देवी ने नारी की नेतृत्वकारी भूमिका के स्वर्णिम सफर की शुरुआत का आह्वान किया। राजग में शामिल अन्य सहयोगी दलों के मंत्रियों ने भी अपनी-अपनी कमान संभाल ली है। जदयू के ललन ¨सह ने पशुपालन व पंचायती राज, चिराग पासवान ने खाद्य प्रसंस्करण, जीतन राम मांझी ने मध्यम व लघु उद्योग और एसडी कुमारास्वामी ने भारी उद्योग मंत्रालय कार्यभार संभाल लिया।

यह भी पढ़ें: PM Modi के बाद अब जयशंकर ने पाकिस्तान को दिया साफ शब्दों में संदेश…, चीन और मालदीव पर भी कह दी बड़ी बात

यह भी पढ़ें: कांग्रेस नेता रकीबुल हुसैन ने विधायक पद से दिया इस्तीफा, लोकसभा चुनाव में रिकॉर्ड अंतर से दर्ज की थी जीत


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.