नई दिल्ली, एएनआइ। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान (Bhagwant Mann) ने गुरुवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से दिल्ली में मुलाकात की। बैठक में भाखड़ा ब्यास प्रबंधन बोर्ड (BBMS) में पंजाब का कोटा, बासमती की फसल समेत कई महत्वपूर्ण मामलों पर चर्चा हुई। बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने बताया,  'भाखड़ा ब्यास मैनेजमेंट बोर्ड में पंजाब का कोटा दोबारा शुरू किया जाए, इस बारे में बात हुई। बासमती का MSP को लेकर कोई नोटिफिकेशन नहीं है, इसलिए किसानों को नुकसान न हो, इस संबंध में बात हुई।'

मुख्यमंत्री ने कहा, 'हमने एंटी ड्रोन टेक्नोलाजी की गुजारिश की। गृहमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए हम मिलकर काम करेंगे। इसके अलावा बासमती की फसल और BBMB में पंजाब का कोटा को लेकर चर्चा की गई।' उन्होंने कहा, 'कानून व्यवस्था को लेकर पटियाला में जो घटना हुई, इसपर विस्तार से बात हुई। पार्टी से ऊपर उठकर राष्ट्रीय सुरक्षा के मामले में सहयोग किया जाएगा। पैरामिलिट्री फोर्स की 10 और कंपनी पंजाब भेजी जाएंगी, 10 कंपनी पहले भेजी जा चुकी हैं।' इसके लिए गुरुवार दोपहर को ही भगवंत मान गृह मंत्रालय पहुंच गए थे। 

गौरतलब है कि संयुक्त किसान मोर्चा ने अपनी मांगों को लेकर चंडीगढ़-मोहाली बैरियर के पास धरना दिया था। मुख्यमंत्री भगवंत मान ने बुधवार को मोहाली में प्रदर्शनकारी किसानों से भी मुलाकात की थी। मुलाकात के दौरान किसानों को गृह मंत्री से मुलाकात कर कई मुद्दों पर चर्चा का आश्वासन दिया गया था।

8 मार्च को तत्कालीन कांग्रेस के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Sigh Channi) ने भी केंद्रीय गृहमंत्री से मुलाकात की थी और पंजाब के बाहर से अधिकारियों को BBMS में नियुक्त करने के केंद्र के फैसले पर पुनर्विचार को कहा था। फरवरी में केंद्र ने नोटिफिकेशन जारी किया था जिसमें BBMS के प्रावधानों को संशोधित करने का आदेश दिया था। बता दें कि ये प्रावधान BBMS में दो मुख्य अधिकारियों की नियुक्ति के लिए निर्धारित चयन प्रक्रिया को लेकर थे। इसके अनुसार पावर व खेती के लिए दो सदस्यों की नियुक्ति में पंजाब व हरियाणा से ही योग्य उम्मीदवारों का चयन होना था।

Edited By: Manish Negi