पुडुचेरी, एएनआइ। पुदुचेरी विधानसभा में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रस्ताव पास किया गया है। 

इसके साथ ही पश्चिम बंगाल, केरल, पंजाब, राजस्थान और मध्य प्रदेश के बाद एंटी-सीएए प्रस्ताव को अपनाने के लिए पुडुचेरी छठी विधानसभा बन गई है। पुदुचेरी के सीएम वी. नारायणसामी ने बताया कि केंद्र से नागरिकता संशोधित कानून को वापस लेने का आग्रह करते हुए प्रस्ताव पुदुचेरी विधानसभा में पास किया गया है।

बता दें कि इससे पहले AIADMK और अखिल भारतीय NR कांग्रेस के विधायकों ने सदन की कार्यवाही का बहिष्कार किया था। विधायक विधानसभा में नहीं पहुंचे थे। वहीं, नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रस्ताव पेश करने के बाद भाजपा के तीन विधायक भी विधानसभा से बाहर चले गए थे। बता दें कि यह एक विशेष विधानसभा सत्र बुलाया गया था प्रस्ताव पेश करने के लिए।

पुडुचेरी की राज्यपाल किरण बेदी ने दो दिन पहले ही सीएम नारायणसामी को पत्र लिखकर कहा था कि संसद द्वारा पारित अधिनियम केंद्र शासित प्रदेश के लिए लागू किया गया है और किसी भी तरीके से इससे छेड़छाड़ या सवाल नहीं किया जा सकता।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस