नई दिल्‍ली, जेएनएन। Lok Sabha Election-2019 पांच साल में पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह के साथ यहां बीजेपी मुख्‍यालय में शुक्रवार को प्रेस कांफ्रेंस की। प्रेस कांफ्रेंस की शुरुआत भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह ने की। उन्‍होंने कहा कि साल 2019 के लोकसभा चुनाव में विपक्ष की ओर से महंगाई और भ्रष्टाचार चुनाव के मुद्दे नहीं थे। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि चुनाव शानदार रहा, एक सकारात्मक भाव से हुआ। दशकों बाद ऐसा हो रहा है कि पूर्ण बहुमत वाली सरकार पांच साल पूरा करने के बाद दोबारा जीतकर आएगी। पेश है प्रेस कांफ्रेंस का प्रमुख अंश...

पांच साल में 133 योजनाएं, यानी हर 15 दिन में एक योजना शुरू की  
भाजपा अध्‍यक्ष शाह ने कहा कि एक लंबे, सफल चुनाव अभियान की समाप्ति पर कुछ बातें बताने के लिए आपको आमंत्रित किया है। जनसंघ के समय से और भाजपा के बनने के बाद से पार्टी गठनात्मक तरीके से काम करने वाली पार्टी रही है। देश के हर वर्ग तक सरकार की योजनाएं पहुंचे, इसके लिए सरकार ने काम किया है। पांच साल में 133 योजनाएं लाए, यानी हर 15 दिन में एक योजना शुरू की गई, मोदी जी के नेतृत्‍व में हमारी सरकार ने सभी वर्गों में आत्‍मविश्‍वास बढ़ाने का काम किया।  

जनता का उत्साह भाजपा से आगे रहा
शाह ने कहा कि भाजपा के नजरिये से आजादी के बाद के चुनावों में यह सबसे ज्यादा मेहनत वाला, सबसे विस्तृत अभियान वाला चुनाव रहा है। इसमें हमारे अनुभव के अनुसार जनता हमसे आगे रही है। मोदी सरकार फिर से बनाने के लिए जनता का उत्साह भाजपा से आगे रहा है। मैं भी चौकीदार अभियान पूरे देश में चला। यह पहला ऐसा चुनाव रहा, जहां विपक्ष की ओर से महंगाई और भ्रष्टाचार मुद्दे नहीं थे। हमने लोगों के सुझाव से अपना संकल्प पत्र तैयार किया।

सरकार ने देश के सम्मान को बढ़ाने का काम किया
भाजपा अध्‍यक्ष ने कहा कि हमारी सरकार ने देश के सम्मान को बढ़ाने का काम किया है। पूरी दुनिया में भारत को एक ताकत के रूप में स्थापित करने का काम किया है। मैं बहुत गर्व के साथ कह रहा हूं कि देश की आजादी के बाद के सबसे ज्यादा विस्तृत चुनाव अभियान का नेतृत्‍व हमारे नेता नरेंद्र मोदी जी ने किया है। मोदी जी ने इस चुनाव में कुल 142 जनसभाओं को संबोधित किया और चार रोड शो किए। इन जनसभाओं में अनुमानित एक करोड़ 50 लाख से ज्यादा लोगों के साथ पीएम मोदी ने संपर्क स्थापित किया।

दोबारा जीतकर आएगी पूर्ण बहुमत की सरकार 
इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित किया। उन्‍होंने कहा कि लोकत्रंत की ताकत दुनिया के सामने ले जाना हम सबका दायित्व है। हमें विश्व को प्रभावित करना चाहिए कि हमारा लोकतंत्र कितनी विविधताओं से भरा है। चुनाव शानदार रहा, एक सकारात्मक भाव से हुआ। पूर्ण बहुमत वाली सरकार पांच साल पूरे करके दोबारा जीतकर आएगी शायद देश में यह दशकों बाद हो रहा है। एनडीए की सरकार बनाना जनता ने खुद तय कर लिया है। 

पहली सभा मेरठ से, मध्‍य प्रदेश में हुई खत्म
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मेरी पहली सभा मेरठ में हुई थी, जो 1857 की क्रांति का केंद्र है और आज आखिरी जनसभा मध्य प्रदेश में हुई, जहां के आदिवासी भीमानायक ने क्रांति में हिस्सा लिया था। उन्‍होंने कहा कि यह अचानक ही नहीं हो गया बल्कि यह हमारी तैयारी का नतीजा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि 16 मई को 2014 के लोकसभा चुनाव का नतीजा आया था और कुछ लोगों को 17 मई को बड़ा नुकसान हुआ था। तब उन सट्टेबाजों को नुकसान हुआ था, जिनको ऐसे नतीजे की उम्मीद नहीं थी। 17 मई से ही देश में ईमानदारी की शुरुआत हुई थी। 

बंगाल में ही क्यों होती है हिंसा 
लोकसभा चुनाव प्रचार के आखिरी दिन दोनों भाजपा नेताओं ने प्रेस कांफ्रेंस में पत्रकारों के कई सवालों के जवाब दिए। राजनीति के स्तर को लेकर पूछे गए सवाल पर अमित शाह ने कहा कि भाजपा की ओर से कभी भी राजनीति को गंदा करने का काम नहीं किया गया। ममता बनर्जी के राज बंगाल में ही क्यों हिंसा होती है। हमारे 80 कार्यकर्ता मारे गए। कहीं और हिंसा क्यों नहीं होती है। पिछले चुनाव में हमारे पर 9 करोड़ कार्यकर्ता थे, अब 11 करोड़ हैं। उन्‍होंने भी दावा किया कि भाजपा अपने बूते पर 300 से ज्यादा सीटें जीतेगी। देश के प्रधानमंत्री फिर से मोदी ही बनेंगे और NDA की ही सरकार बनेगी।

प्रज्ञा पर अनुशासनात्‍मक कमेटी लेगी फैसला
महात्‍मा गांधी के हत्‍यारे नाथूराम गोडसे के बारे में साध्‍वी प्रज्ञा के विवादित बयान को लेकर पूछे गए सवाल पर भाजपा अध्‍यक्ष ने कहा कि विवादित बयान देने वाले नेताओं को नोटिस भेजा गया है। उनसे 10 दिनों के भीतर जवाब देने के लिए कहा गया है। साध्‍वी प्रज्ञा का जवाब आने के बाद पार्टी की अनुशासनात्‍मक कमेटी उन पर फैसला लेगी। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की उम्मीदवारी फर्जी भगवा आतंक के खिलाफ हमारा सत्याग्रह है। भगवा आतंक शब्द देने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष को देश से माफी मांगनी चाहिए। एक अन्‍य पत्रकार के सवाल पर शाह ने कहा कि राफेल सौदे में एक भी पैसे की गड़बड़ी नहीं हुई है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Krishna Bihari Singh