गंगटोक (एजेंसी)। 32 साल की उम्र में राजनीतिक करियर के साथ शुरुआत करने वाले सिक्किम के मुख्‍यमंत्री पवन कुमार चामलिंग ने भारत के इतिहास में सबसे अधिक समय तक मुख्यमंत्री बने रहने का रिकॉर्ड बना लिया है। इससे पहले यह रिकार्ड ज्योति बासु के नाम था जो अब दूसरे नंबर पर आ गए। पवन कुमार चामलिंग ने 29 अप्रैल, 2018 को इतिहास रच दिया। उन्‍होंने देश में सबसे अधिक समय तक मुख्‍यमंत्री बने रहने का ज्‍योति बासु का रिकॉर्ड तोड़ दिया। 21 मई 2014 को उन्‍होंने पांचवीं बार सिक्‍किम के मुख्‍यमंत्री पद को संभाला।

23 साल तक सीएम रहे थे ज्‍योति बासु

पश्चिम बंगाल में सीपीएम की 34 साल की सरकार में ज्योति बासु 23 साल 137 दिन तक मुख्यमंत्री रहे। बासु 21 जून, 1977 से पांच नवंबर 2000 तक बंगाल के मुख्यमंत्री रहे। इस दौरान उन्होंने कुल 8,358 दिन राज किया। इसके बाद यहां के मुख्‍यमंत्री का पदभार बुद्धदेब भट्टाचार्य ने संभाला।

1994 में चामलिंग के हाथों सिक्‍किम की बागडोर

पीके चामलिंग 12 दिसंबर, 1994 में सिक्किम के मुख्यमंत्री बने और अब तक वहीं हैं। चामलिंग ने इसका श्रेय अपने माता-पिता को भी दिया। उन्‍होंने कहा, इसका श्रेय मैं राज्य की जनता को भी देना चाहूंगा, क्योंकि उन्होंने मुझपर विश्वास किया। मेरा समर्थन किया। उन्हीं की दुआओं की वजह से मैं इतने सालों तक राज्य का प्रतिनिधित्व कर पाया हूं।‘

कार्यकाल पूरा होने में बचा है एक साल और...

चामलिंग के इस रिकॉर्ड पर सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट के प्रवक्ता कहते हैं कि मुख्यमंत्री के मामले में उनके नेता ऐसा रिकॉर्ड स्थापित करेंगे जिसे तोड़ पाना बहुत मुश्किल होगा। प्रवक्ता आगे कहते हैं कि 67 साल के चामलिंग का कार्यकाल पूरा होने में अभी एक साल का समय और बचा है। अभी भी बहुत से लोगों का मानना है कि राज्य में अगले साल होने वाले चुनाव में चामलिंग अन्य उम्मीदवारों के मुकाबले राज्य का प्रतिनिधित्व करने के लिए काफी मजबूत दावेदार होंगे।

मुख्‍यमंत्री चामलिंग ने कहा, ‘जैसा कि मैंने निजी तौर पर एक मुकाम हासिल किया है। गरीब और जनहितैषी नीतियों के साथ हमारे 23 साल से ज्यादा के शासन में सिक्किम ने सभी क्षेत्रों में तेजी से और अभूतपूर्व विकास देखा है।‘ 1989 से 1992 तक वे नर बहादुर भंडारी सरकार में मंत्री थे। 1993 के मार्च में उन्‍होंने सिक्‍किम डेमोक्रेटिक फ्रंट की स्‍थापना की। वे नेपाली भाषा के कवि और संगीतकार भी हैं।

Posted By: Monika Minal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप