नई दिल्ली [माला दीक्षित]। नागरिकता संशोधन कानून (National Register of Citizens) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (Citizenship Amendment Act)  के विरोध में 15 दिसंबर से चल रहा प्रदर्शन शुक्रवार को भी जारी है। इस बीच शाहीन बाग में कालिंदी कुंज के बीच की सड़क को प्रदर्शनकारियों से खाली कराने का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। याचिकाकर्ता अमित साहनी ने सुप्रीम कोर्ट से मामले पर जल्द सुनवाई की मांग की है। वहीं, मुख्य न्यायाधीश जस्टिस बोबडे ने याचिकाकर्ता से मेंशनिंग ऑफिसर के पास जाने के लिए कहा है।

बता दें कि 15 अगस्त से दक्षिण दिल्ली के शाहीन बाग इलाके में बड़ी संख्या में लोग रोड जामकर CAA-NRC के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। यहां रोजाना हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी NRC-CAA के विरोध में डटे हैं। जब से ये प्रदर्शन कर रहे हैं, तभी से थुरा रोड और कालिंदी कुंज के बीच रोड 13 A बंद है। इसके चलते दिल्ली से नोएडा और नोएडा से दिल्ली जाने-आने वालों को खासी दिक्कत पेश आ रही है। स्थिति यह है कि जहां 15 मिनट का सफर तय किया जा सकता है वहां पर 2 घंटे अतिरिक्त समय लग रहा है। 

21 जनवरी को कुछ प्रदर्शकारियों ने उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात कर दावा किया था कि स्कूल बसों के लिए रास्ता खोल दिया गया है, जिससे स्कूली बच्चों को दिक्कत नहीं हो। फिर यह भी कहा गया है कि सिर्फ स्कूली बसों को रास्ता दिया जाएगा, लेकिन प्रदर्शन जारी रहेगा। 

वहीं, प्रदर्शनकारियों का यह भी कहना है कि नागरिकता संशोधन कानून वापस लेने की सूरत में ही विरोध खत्म होगा। 

बता दें कि पिछले सप्ताह दिल्ली पुलिस ने शाहीन बाग इलाके के समाजसेवियों के साथ धर्मगुरुओं से मुलाकात कर रास्ता खोलने की गुजारिश की थी, लेकिन प्रदर्शनकारी अपनी बात पर अड़े हैं। 

दिल्ली चुनाव से जुड़ी खबरें पढ़ने के लिए करें क्लिक

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस