गुना, पीटीआइ। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक और भाजपा नेता महेंद्र सिंह ने एक ऐसा बयान दिया है, जिससे मध्य प्रदेश की राजनीति गरमा गई है। दरअसल महेंद्र सिंह सिसोदिया ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि 2019 में गुना की जनता से गलती हुई। बता दें कि साल 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुना से भाजपा प्रत्यासी केपी यादव के खिलाफ चुना लड़ा, जिसमें सिंधिया को हार का सामना करना पड़ा। अब शिवराज सिंह सरकार में पंचायत मंत्री रहे महेंद्र सिंह के इस बयान ने भाजपा के अंदर ही हलचल पैदा कर दी है।

महेंद्र सिंह के इस बयान पर गुना के सासंद केपी यादव ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए रविवार को कहा, 'वह (सिसोदिया) मुझसे ज्यादा अनुभवी हैं। उन्हें इस तरह नहीं बोलना चाहिए, लेकिन अगर कोई बुजुर्ग हर बार ऐसी गलतियां करता है तो उसके बारे में उसे बताना जरूरी हो जाता है। मैं भी मजबूरी में बोल रहा हूं। वह एक वरिष्ठ मंत्री हैं और उन्हें इस तरह नहीं बोलना चाहिए।'

कांग्रेस ने भाजपा नेताओं पर उठाए सवाल

वहीं, कांग्रेस ने इस पूरे प्रकरण पर चुटकी ली है। मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा द्वारा ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया, जिसमें यादव कहते हुए सुना जा सकते हैं कि मैं मजबूरी में बोल रहा हूं और वो (सिसोदिया) मूर्ख हैं कि वह इस तरह की बात कर रहे हैं। वे वरिष्ठ मंत्री हैं। वह जिस तरह का बयान दे रहे हैं..हर कार्यकर्ता को अब लगने लगा है कि बीजेपी ने इन्हें स्वीकार कर गलती की है।

सजुला ने ट्विटर पर सिंधिया समर्थक और एमपी एनर्जी डेवलपमेंट कारपोरेशन के अध्यक्ष गिरराज दंडोतिया का भी एक वीडियो भी पोस्ट किया, जिसमें उन्हें यह कहते हुए सुना जा सकता है, 'जब भी हम गुना और शिवपुरी में लोगों से मिलते हैं और सिंधिया के बारे में बात करते हैं, तो उनकी आंखें नम हो जाती हैं कि उन्होंने ऐसे नेता को कैसे हराया है।'

दोनों नेताओं में खत्म हुआ रार

गौरतलब है कि सोमवार इस मामले में अचानक नया मोड़ आ गया, जब गुना में पार्टी की बैठक में सिसोदिया और यादव दोनों एक साथ बैठकर एक-दूसरे के कानों में फुसफुसाते नजर आए। उन्होंने एक-दूसरे को सम्मान के साथ संबोधित भी किया। सिसोदिया ने कहा, 'वह (यादव) मेरे छोटे भाई और परिवार के सदस्य हैं। यह बीजेपी का अंदरूनी मामला है और हम मिल बैठकर इसका समाधान करेंगे।

बता दें कि इस मामले पर मध्य प्रदेश भाजपा प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी ने कहा कि यह भाजपा का आंतरिक मामला है और इसे पार्टी के भीतर ही सुलझा लिया जाएगा।

Edited By: Piyush Kumar