राज्य ब्यूरो, श्रीनगर। अनुच्छेद 370 हटने के बाद पुलिस ने सोमवार शाम को जम्मू कश्मीर के दो पूर्व मुख्यमंत्रियों महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला के अलावा सज्जाद लोन व इमरान अंसारी को गिरफ्तार कर लिया। जबकि नेकां अध्यक्ष और सांसद डॉ. फारूक अब्दुल्ला समेत मुख्यधारा के एक दर्जन नेताओं के साथ कट्टरपंथी सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज मौलवी उमर फारूक समेत कई प्रमुख अलगाववादी अपने घरों में नजरबंद रहे।
बता दें कि रविवार को उमर, महबूबा मुफ्ती, फारूक, पीपुल्स कांफ्रेंस के इमरान रजा अंसारी, शाह फैसल, मुजफ्फर हुसैन बेग, मुजफ्फर शाह, पीर मंसूर, गुलाम नबी हंजूरा, उसमान मजीद और मुहम्मद यूसुफ तारीगामी सकेत समेत मुख्यधारा के एक दर्जन नेताओं को प्रशासन ने नजरबंद रखा था। इनमें से महबूबा, उमर, पीपुल्स कांफ्रेंस के सज्जाद लोन और इमरान अंसारी को पुलिस ने सोमवार शाम को उनके घरों से गिरफ्तार किया। उन्हें चश्माशाही गेस्टहाउस में रखा गया है। इसके अलावा अलगाववादी खेमे से गिलानी, मीरवाइज मौलवी उमर फारूक, हिलाल वार, जावेद, मुसदिक, मसरूर अंसारी, मुख्तार वाजा, जफर फतेह समेत प्रमुख नेताओं को पुलिस ने घरों से बाहर नहीं निकलने दिया।  

यह भी पढ़ें- अमित शाह बोले- जम्मू कश्मीर में लंबे रक्तपात भरे युग का अंत, पढ़े 20 प्वाइंट

घाटी में इंटरनेट सेवाओं को भी बंद करने के साथ ही श्रीनगर में धारा 144 लगा दी गई है। वादी के महत्वपूर्ण संस्थानों और संवेदनशील क्षेत्रों की चौकसी बढ़ा दी गई है। चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा बल तैनात हैं। राज्य के सभी जिलों में तमाम शिक्षण संस्थान अगले आदेश तक बंद कर दिए गए हैं। राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने तेजी से बदलते घटनाक्रम के बीच आपात बैठक बुलाई, जिसमें पुलिस और प्रशासन के बड़े अफसर शामिल हुए। इसमें राज्यपाल ने मुख्य सचिव को घटना पर नजर रखते हुए हर घंटे रिपोर्ट देने के लिए कहा है। अफसरों को संपर्क के लिए सेटेलाइट फोन दिए गए हैं, क्योंकि मोबाइल सेवाएं बाधित होने की भी खबरें हैं। 

Article 370: विदेश मंत्रालय ने कहा, पाकिस्‍तान को हर मंच पर दिया जाएगा करारा जवाब

श्रीनगर में योजना आयोग के प्रधान सचिव रोहित कंसल ने कहा है कि केंद्रीय सरकार का अनुरोध जम्मू-कश्मीर के लोगों से शांति बनाए रखने का है। घंटों में अत्यधिक प्रतिक्रिया देने का समय नहीं है। हर कीमत पर राज्‍य प्रशासन कानून-व्‍यवस्‍था को बनाए रखने के लिए प्रयासरत है। घाटी में तीन महीने का खाद्य पदार्थ मौजूद है। खाने-पीने के चीजों की कोई कमी नहीं है।

उधर, जम्‍मू यूनिवर्सिटी के डा. विनय तुषको ने कहा कि यूनिवर्सिटी 6 अगस्‍त को भी बंद रहेगी। यूनिवर्सिटी में सभी स्‍नातक और पीजी की कल होने वाली परीक्षा और प्रवेश स्‍थगित रहेंगे। परीक्षा और प्रवेश के नए शेड्यूल के बारे में जल्‍द ही सूचना दी जाएगी।  

Article 370 पर बंटी कांग्रेस, जर्नादन द्विवेदी बोले, इतिहास की पुरानी गलती को सुधारा गया, भले ही देर से

कश्मीर विवि की परीक्षाएं रद 
कश्मीर विश्वविद्यालय ने पांच अगस्त से 10 अगस्त तक सभी परीक्षाएं स्थगित कर दी हैं। यह फैसला कश्मीर विवि प्रशासन ने हालात को देखते हुए देर रात को लिया है।

स्कूल-कॉलेज बंद
कश्मीर के अलावा जम्मू संभाग के भी सभी जिलों में अगले आदेश तक स्कूल बंद कर दिए गए हैं। जिला उपायुक्त जम्मू सुषमा चौहान और ऊधमपुर के डीसी पीयूष सिंगल ने इसकी पुष्टि की। सोमवार को निजी और सरकारी स्कूल बंद रहेंगे। प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार जम्मू जिले में सोमवार छह बजे से धारा 144 लागू हो जाएगी। हालात को देखते हुए कर्फ्यू भी लगाया जा सकता है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप