नई दिल्ली, एएनआइ। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह मंगलवार को रूस दौरे पर रवाना होंगे। रक्षा मंत्री का यह दौरा 5 नवंबर से शुरू होकर 7 नवंबर तक रहेगा। इस दौरान राजनाथ सिंह सैन्य और सैन्य तकनीकी सहयोग पर 19 वें भारत-रूस Inter-Governmental Commission की सह-अध्यक्षता करेंगे।

अपनी यात्रा के दौरान राजनाथ सिंह द्वारा रूसी संघ के रक्षा मंत्री जनरल सर्गेई शोयगू के साथ चर्चा करने की उम्मीद है।

रक्षा उद्योग में निवेश के बढ़ावे पर होगी चर्चा

सिंह रूसी उद्योग एवं व्यापार मंत्री डेनिस मांटुरोव, भारत-रूस रक्षा उद्योग सहयोग सम्मेलन के साथ उद्घाटन करने वाले हैं। मिली जानकारी के अनुसार सम्मेलन मेक इन इंडिया कार्यक्रम के तहत भारत और रूस के बीच रक्षा औद्योगिक सहयोग, प्रौद्योगिकी हस्तांतरण और भारत में रक्षा उद्योग में निवेश को बढ़ावा देने के तरीकों पर चर्चा की जाएगी।

तमिलनाडु और यूपी के रक्षा विभाग के अधिकारी भी होंगे शामिल

बता दें कि भारतीय रक्षा उद्योग से इस टीम में भारत डायनामिक्स लिमिटेड, बीईएमएल और जीएसएल तथा निजी क्षेत्र से एल एण्ड टी डिफेंस, भारत फोर्ज, अदाणी डिफेंस, टैकमाको डिफेंस, अल्फा डिजाईन सहित कम से कम 35 वरिष्ठ उद्योगपति इसमें शामिल होंगे। तमिलनाडु और उत्तर प्रदेश के रक्षा विभागों से जुड़े वरिष्ठ अधिकारी भी इसमें शामिल होंगे और गलियारे में आने वाले संभावित निवेशकों तक पहुंच बनायेंगे।

गौरतलब है कि हाल ही में विजयदशमी के मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस का दौरा किया था। रक्षा मंत्री के फ्रांस दौरे के दौरान भारत को पहला राफेल लड़ाकू विमान सौंप दिया गया। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह राफेल को लेने के लिए खुद फ्रांस पहुंचे हुए थे। फ्रांस के रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ले ने भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को पहला राफेल लड़ाकू विमान सौंपा दिया था। इसके बाद रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने राफेल में उड़ान भरी थी।

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी का दावा, RCEP भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था को बनाएगा पंगु, लाखों नौकरियां जाएंगी

यह भी पढ़ें: ODD-EVEN in Delhi: सड़क पर नहीं उतरी 15 लाख कारें, जानिए सीएम केेजरीवाल ने क्‍या कहा

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस