देश में जारी लॉकडाउन के बीच पिछले 24 घंटों में लोगों को आवश्यक सामानों की होम डिलीवरी की सुविधा देने में राज्य सरकार की पूर्ण विफलता के बीच, मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने गुरुवार को किराने की दुकानों और सुपरमार्केट के मालिकों से मिलेंगे और लोगों को आवश्यक वस्तुओं  पहुंचाने  की योजना को तैयार करेंगे।

  इससे पहले गुरुवार को, राज्य के स्वास्थ्य अधिकारियों ने 14 उच्च जोखिम वाले व्यक्तियों को ट्रैक करने में कामयाब रहे, जो तीन व्यक्तियों के संपर्क में थे, इन सभी का बुधवार देर रात COVID-19 के लिए टेस्ट पॉजिटिव आया था।  मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि सावंत किराना बाजार के सभी प्रमुख विक्रेताओं जैसे कि सुपर मार्केट ऑपरेटरों, प्रमुख किराना दुकान मालिकों की आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति पर योजना बनाने के लिए बैठक करेंगे। 

बुधवार को, सावंत ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लगाए गए 21-दिवसीय कर्फ्यू को टोटो में लगाया जाएगा और यहां तक कि किराने की दुकानों को भी नहीं खोला जाएगा। उनके इस बयान के बाद गोवा में चारों-तरफ अफरा तफरी मच गई। जिसके बाद सावंत ने कहा था कि होम डिलीवरी नेटवर्क खोला जाएगा। गोवा में स्वयंसेवकों और सरकारी सहायता प्राप्त राशन स्टोर मालिकों की मदद से और दूध की डिलीवरी भी घर पर ही की जाएगी। 

जानकारी के लिए बता दें कि बुधवार को राज्य में गोवा में कोरोना वायरस से संक्रमित तीन व्यक्तियों के मामले सामने आए हैं। ये सभी विदेश यात्रा करके लौटे थे। इनका कोरोना वायरस के लिए किया गया टेस्ट पॉजिटिव आया है। स्वास्थ्य सेवा निदेशालय के अनुसार, 14 लोग जो इन संक्रमित लोगों के संपर्क में थे उन सभी को क्वॉरंटाइन कर दिया गया है। 

गौरतलब है कि देश में लगातार कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या में इजाफा हो रहा है।  इसे देखते हुए सरकार ने पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया है। 

Posted By: Ayushi Tyagi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस