कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष के चुनाव को शशि थरूर ने अपनी उपस्थिति से खबरों में ला दिया है। लंबे अरसे के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद पर गांधी परिवार का कोई सदस्य नहीं होगा। लगातार चुनावी हार से पार्टी के कार्यकर्ताओं का मनोबल टूटा हुआ है। पार्टी में वरिष्ठ नेताओं का एक गुट नेतृत्व से नाराज है। इन चुनौतियों के बारे में शशि थरूर से दैनिक जागरण के एसोसिएट एडीटर अनंत विजय ने ईमेल पर बात की। पढ़ें, बातचीत के प्रमुख अंश -

प्रश्न- आप कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष का चुनाव लड़ रहे हैं। आपकी एक मजबूत राष्ट्रीय पार्टी को लेकर परिकल्पना क्या है?

शशि- भारत जैसे देश में राष्ट्रीय पार्टी का अर्थ है एक ऐसे राजनैतिक दल से जो हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की सोच के अनुसार देश के सबसे कमजोर व्यक्ति की समस्याओं,जरूरतों और आकांक्षाओं को ध्यान में रखते हुए देश को आगे बढ़ाने हेतु कार्य करे। एक ऐसे भविष्य के लिए अपने कार्यकर्ताओं के साथ प्रयास करे जिसमें युवाओं,बुजुर्गों,महिलाओं, गरीब,मध्यम वर्गीय,उद्यमी,कारोबारी, दुकानदार, अध्यापक,छात्र अर्थात हर भारतीय के किये एक उज्ज्वल,आशा भरा भविष्य हो।जो सही अर्थों में एक आपसी सौहार्द,सहभागिता,सामंजस्य वाले आत्मनिर्भर, सशक्त और स्वाभिमानी भारत के लिए काम करे जिसका सपना उन असंख्य स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों ने देखा था जिन्होंने देश के लिए अपना जीवन कुर्बान कर दिया।

मेरा मानना है कि आंतरिक लोकतंत्र का पालन करते हुए ब्लॉक,वार्ड और ग्राम पंचायत के स्तर से हम ऐसी विचारधारा के लोगों को जब पार्टी से सक्रिय रूप से जोड़ेंगे और उनकी सक्षमता,सक्रियता और काबिलियत के आधार पर उनको आगे बढ़ने का मौका देंगे तो हमारी पार्टी ही सही अर्थों में जनाकांक्षाओं का प्रतिनिधित्व करने वाली और हमारी ऐतिहासिक विरासत को बढ़ाने वाली राष्ट्रीय पार्टी होगी। ऐसी हमारी विरासत तथा इतिहास रहा भी है जिसपर मेरे जैसे हर कांग्रेसी को बहुत गर्व है।

प्रश्न- लंबे अरसे के बाद गांधी परिवार का कोई व्यक्ति कांग्रेस का अध्यक्ष नहीं होगा, आप पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में किस तरह से संतुलन साध पाएंगे।

शशि- स्वतंत्रता संग्राम के दौरान और स्वातंत्र्योत्तर काल में भी देश की स्वतंत्रता और विकास में योगदान का नेहरू-गांधी परिवार का एक अतुलनीय इतिहास रहा है,उनके परिवार के दो-दो व्यक्तियों ने इस देश की एकता अखंडता हेतु अपनी जान की कुर्बानी दी है जिसको कोई नकार नहीं सकता।आज कांग्रेस में जो अध्यक्ष का चुनाव होने जा रहा है उसमें वर्तमान कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया,राहुल जी और प्रियंका जी की इस आंतरिक लोकतंत्र के प्रति दृढ़ इच्छा शक्ति का बहुत बड़ा रोल है।गांधी परिवार का उनकी कुर्बानियों और योग्यता के कारण पूरे देश और पूरी कांग्रेस पार्टी में एक विशेष सम्मान और स्थान है और रहेगा.जहाँ तक वरिष्ठ नेताओं से संतुलन का सवाल है तो कांग्रेस का इस संदर्भ में बहुत बड़ा और पुराना इतिहास है।इस पार्टी में देशभक्त और अनुभवी नेताओं की कोई कमी नहीं है और सबका उद्देश्य निजी हितों को पीछे छोड़ कर पार्टी को और भारत को मजबूत करने हेतु कार्य करने का इतिहास रहा है और आगे भी हम सब मिल कर इसी भावना और उद्देश्य से काम करेंगे।

प्रश्न- आपके सामने दो प्रमुख चुनौतियां हैं, पहली चुनौती संगठन को पूरे देश में मजबूत करने की इसको लेकर आपके दिमाग में क्या कार्ययोजना है?

शशि- हमारी चुनौती और प्राथमिकता सत्तापक्ष के नेताओं के रणनीतिक और राजनैतिक कौशल से निपटना न होकर गरीबी हटाने हेतु,रोजगार सृजन हेतु,महिला सशक्तिकरण,देश को आत्मनिर्भर बनाने हेत कार्ययोजना तैयार करना,महंगाई को कम करना,देश में सामाजिक समरस्ता कायम करना और आगे के 25 वर्षों में देश को विश्व के सर्वाधिक विकसित एक ऐसे देश के रूप में ले जाना है जहाँ आम जन सुखी और खुश हो न कि क्षुद्र राजनैतिक स्वार्थ के झगड़ों में पड़ना।हम इसी बड़े उद्देश्य के लिए और देश के भविष्य के लिए कार्य करेंगे।भाजपा का उद्देश्य सत्ता है लेकिन हमारा उद्देश्य देश हित प्रबल है।

प्रश्न- नीतीश और लालू यादव विपक्षी एकता के लिए काम कर रहे हैं। इसमें वो कांग्रेस को भी साथ लाना चाहते हैं। लेकिन ममता बनर्जी और अरविंद केजरीवाल इससे दूरी बनाए हुए हैं। आपकी क्या राय है।

शशि-आपके विपक्षी एकता के सवाल पर सिर्फ इतना कहना चाहूँगा कि देश की मजबूती,आपसी सद्भाव और देश के भविष्य के लिए जिनको काम करना है वो साथ काम करेंगे और हम तो इस रास्ते के सबसे पुराने और स्थिर पथिक हैं ही।

प्रश्न- ये खबर आई थी कि आपने कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव करनेवालों की मतदाताओं की सूची मांगी थी, क्या आपको मिली? अगर मिली तो क्या आपको उस लिस्ट पर भरोसा है।

शशि- हमारी पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष का निष्पक्ष चुनाव कराने को कटिबद्ध gहै और हमारा चुनाव प्राधिकरण सम्मानीय मधुसूदन मिस्त्री जी के नेतृत्व में इसके लिए दिन रात काम कर रहा है और हमारी पार्टी की वर्तमान अध्यक्ष और हमारी नेता श्रीमती सोनिया गांधी जी,श्री राहुल गांधी जी,श्रीमती प्रियंका गांधी जी तथा सभी कांग्रेसजन इस चुनाव को एक निष्पक्ष स्वस्थ प्रक्रिया के साथ कराने हेतु उत्साह के साथ कटिबद्ध हैं।

Edited By: Sanjay Pokhriyal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट