मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

अलीराजपुर, एएनआइ। मध्य प्रदेश के अलीराजपुर में कांग्रेस विधायक ने जिला कलेक्टर को धमकी दी और उसी दिन उनका ट्रांसफर भी हो गया। दरअसल, अलीराजपुर के जोबट से कांग्रेस विधायक कलावती भूरिया ने जनता को संबोधित करते हुआ कहा था कि कलेक्टर चार दिन और अलीराजपुर की रोटी खा लें, उसके बाद उन्हें यहां से बोरिया बिस्तर समेटना पड़ेगा। कलावती ने यह धमकी सुबह दी थी और रात होते-होते वास्तव में कलेक्टर का ट्रांसफर कर दिया गया। कांग्रेस विधायक का धमकी भरा वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है, जिसके बाद अब कई सवाल भी उठने लगे हैं।

वायरल वीडियो गुरुवार दोपहर का है। कट्ठीवाडा कस्बे में अपने स्वागत समारोह के दौरान कांग्रेस विधायक अलीराजपुर कलेक्टर गणेश शंकर मिश्रा पर बरसने लगीं। उन्होंने कलेक्टर के लिए अनाप-शनाप शब्दों का प्रयोग किया और फिर धमकाते हुए कहा, 'वो चार दिन और अलीराजपुर की रोटी खा लें, इसके बाद वह यहां नहीं रह पाएंगे।' कलावती भूरिया का कहना है कलेक्टर गणेश शंकर मिश्रा ने उन्हें बहुत परेशान किया।

कलावती इतने पर ही नहीं रुकीं, उन्होंने कलेक्टर समेत कुछ और कर्मचारियों पर भी आपत्तिजनक टिप्पणी की। उन्होंने अधिकारियों और कर्मचारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि वह अपनी कार्यशैली सुधार लें। उन्होंने जीत के बाद मतदाताओं का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि आप लोगों को अब डरने की जरूरत नहीं है। मैं आपके बीच काम करने आई हूं।

बता दें कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही बड़े पैमाने पर प्रशासनिक फेरबदल किया गया है, जिसमें अलीराजपुर कलेक्टर गणेश शंकर मिश्रा को वहां से हटा कर सीहोर कलेक्टर की जिम्मेदारी सौंपी गई है। पहली बार विधायक चुनी गईं कलावती भूरिया कांग्रेस के स्थानीय सांसद कांतिलाल भूरिया की भतीजी हैं। कलावती 18 साल से झाबुआ की जिला पंचायत अध्यक्ष थीं। अलीराजपुर जिले के जोबट से वह अब विधायक बनी हैं। हालांकि अलीराजपुर कलेक्टर गणेश शंकर मिश्रा के ट्रांसफर को कांग्रेस विधायक की धमकी से जोड़कर देखा जा रहा है। 

Posted By: Arti Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप